नई दिल्ली: बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) सुप्रीमो मायावती ने प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी पर नोटबंदी के फैसले को लेकर बुधवार को सदन के बाहर से जमकर हमला किया. उन्होंने कहा कि जब पीएम मोदी ने इतना अच्छा कर रहे हैं तो वह संसद में आने से क्यों घबरा रहे हैं, वे संसद क्यों नहीं आते. 
 
 
मायवती ने क्या कहा ?
मायवती ने कहा कि मैं राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी से गुजारिश करती हूं कि पीएम मोदी को तलब करें और नोटबंदी के बाद जनता को जिस प्रकार की परेशानी को हो रही है उसका समाधान निकालें. इस बीच हंगामे के बाद लोकसभा को गुरुवार तक के लिए स्थगित कर पड़ा.  उन्होंने ये भी कहा कि पीएम मोदी संसद आकर विपक्ष की एक बार सुने लें. उन्होंने आरोप लगाया कि नोटबंदी में बहुत बड़ा स्कैम हुआ, उसकी जांच संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से कराई जाए. 
 
 
‘काले धन के खिलाफ सरकार के साथ’
उन्होंने कहा कि हम भी काले धन और भ्रष्टाचारियों के खिलाफ मोदी सरकार के साथ हैं. लेकिन ये फैसला बिना किसी तैयारी के लिया गया है ये कदम अगर थोड़ा बहुत सोच समझकर लिया जाता तो हम केंद्र के इस फैसले का समर्थन करते.
 
 
राहुल गांधी पीएम मोदी के नोटबंदी फैसले पर सदन के बाहर जमकर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी संसद में आएं, विपक्ष की भी अच्छे से सुनें. नोटबंदी के मामले की जेपीसी से कराई जाए. राहुल ने कहा कि पीएम मोदी आखिर संसद में आने से क्यों कतरा रहे हैं. नोटबंदी से पूरा भारत लाइन में लगा हुआ है लेकिन बीजेपी के बड़े बडे़ नेताओं और उद्योगपतियों को नोटबंदी के बारे में पहले से ही पता था.
 
 
केजरीवाल ने साधा निशाना
वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 500 और 1000 के पुराने नोट को बैन करने लेकर पीएम मोदी पर हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि राष्ट्रपति पीएम मोदी को संसद में उपस्थित होने का निर्देश दें. वे ऐसे पहले पीएम हैं जो संसद आने से डर रहे हैं.
 
 
’13 पार्टियां दे रही हैं धरना’
संसद भवन के बाहर विपक्ष गांधी प्रतिमा के सामने धरना दे रहे हैं. प्रदर्शन कर रहीं 13 पार्टियों में कांग्रेस, सपा, वाम, बसपा आदी पार्टियां शामिल हैं. पार्टियों के 200 से ज्यादा सांसद इस धरना में खड़े हैं. प्रदर्शन के दौरान राहुल गांधी, लोकसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकाअर्जुन खड़गे, राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद, एके एंटनी, शरद पवार आदि नेता दिखे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App