इंफाल. मानवाधिकार कार्यकर्ता इरोम शर्मिला चानू ने एक क्षेत्रीय राजनीतिक पार्टी बनाई है. शर्मिला 2017 में होने वाले विधानसभा चुनावों में मुख्यमंत्री ओ इबोबी सिंह के विधानसभा क्षेत्र थौबल में सीएम से दो-दो हाथ करेंगी. इरोम शर्मिला की पार्टी का नाम है ‘पीपुल्स रिसर्जन्स जस्टिस एलायंस’ (प्रजा). शर्मिला ने खुद प्रेस कांफ्रेंस कर इसकी घोषणा की है. 
 
दो विधानसभा सीटों से लड़ेंगी चुनाव 
16 साल तक विवादास्पद कानून (अफस्पा) को हटाने की लड़ाई लड़ने वाली 44 वर्षीय इरोम शर्मिला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि उनकी पार्टी न्याय, समझदारी, प्रेम और शांति के मूल सिद्धांतों पर आधारित होगी. इरोम खुद दो विधानसभा सीटों थोउबल और खुरई से चुनाव लड़ेंगी, 
 
16 साल तक रहीं भूख हड़ताल पर
बता दें कि इरोम मणिपुर से सशस्त्रर बल विशेषाधिकार कानून (आर्म्डी फोर्स स्पे शल पावर एक्टि) 1958 को हटाए जाने की मांग पर 2 नवंबर 2000 से भूख हड़ताल पर थीं.  इसी साल जुलाई में उन्होंने अपनी भूख हड़ताल खत्म कर दी थी. 
 
केजरीवाल से मुलाकात
बता दें कि इससे पहले शर्मिला ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की थी. केजरीवाल से उन्होंने बड़ी राजनीतिक पार्टियों से मुकाबला करने को लेकर सलाह मांगी थी. इरोम राजनीतिक गुर सीखने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात करेंगीं.