नई दिल्ली. दिल्ली के कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर की गिरफ्तारी पर आम आदमी पार्टी ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई है. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा है कि केंद्र सरकार दिल्ली में इमरजेंसी जैसे हालात बना रही है. उन्होंने कहा कि तोमर की गिरफ्तारी बिना किसी पूर्व नोटिस के हुई है और उनके साथ माफिया जैसा व्यवहार किया गया. 

सिसोदिया ने केंद्र सरकार पर बरसते हुए कहा कि मोदी सरकार भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कार्रवाई करने पर दिल्ली सरकार से बदला ले रही है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार सबक सिखाने के लिए बदले की कार्रवाई कर रही है. 

पुलिस कमिश्नर पर एक्शन ले सकते हैं स्पीकर

दिल्ली विधानसभा के स्पीकर आरएन गोयल ने दिल्ली पुलिस की इस कार्रवाई पर सवाल खड़े कर दिए हैं. स्पीकर ऑफिस की ओर से कहा गया है कि पुलिस के पास विधानसभा की अनुमति के बगैर किसी भी मंत्री को समन देने या गिरफ्तार करने का अधिकार नहीं है. स्पीकर आरएन गोयल विधानसभा के विशेषाधिकार को लेकर इस मामले में एक्शन ले सकते हैं. साथ ही इस बारे में पुलिस कमिश्नर से भी स्पष्टीकरण मांगा जा सकता है.

कांग्रेस ने मांगा केजरीवाल से इस्‍तीफा

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से इस्तीफा मांगा है. उन्होंने कहा कि यह पहला मौका है जब किसी कानून मंत्री को फर्जी डिग्री मामले में गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने तुरंत तोमर को पद से बेदखल करने की भी मांग की है. दूसरी ओर दिल्ली के बीजेपी प्रमुख सतीश उपाध्याय का कहना है कि तोमर की गिरफ्तारी कानून के मद्देनजर ही की गई है, इसका केंद्र से कुछ लेना-देना नहीं है. 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App