नई दिल्ली. खुर्जा से चार बार के सांसद और वर्तमान में समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता अशोक प्रधान पर दिल्ली की एक महिला ने बलात्कार का आरोप लगाया है. दिल्ली पुलिस ने उनके खिलाफ मंदिर मार्ग थाने में एफ.आई.आर. दर्ज की है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पेशे से वकील 24 वर्षीय एक महिला ने आरोप लगाया है कि प्रधान ने नौकरी का झांसा देकर उसका शारीरिक शोषण किया. महिला ने अपने पति, सास-ससुर और भाभी के नाम भी शिकायत दर्ज कराई है. महिला का आरोप है कि अशोक प्रधान के साथ-साथ उसके ससुर ने भी उसके साथ कथित तौर पर बलात्कार किया. महिला की शिकायत पर पुलिस धारा 354, 376(बलात्कार), 307(हत्या की कोशिश) के तहत मुकदमा दर्ज कर आगे की तफ्तीश कर रही है. 
 
पूर्व केंद्रीय मंत्री अशोक प्रधान का कहना है कि उन पर लगे सारे आरोप निराधार हैं. महिला और उसके पति के बीच कुछ अनबन थी, मैंने दोनों के बीच सुलह कराने की कोशिश की थी. उन दोनों की शादी कराने में भी मेरा महत्वपूर्ण योगदान था. मेरे पास इसके सबूत मौजूद है जो मैं समय आने पर पुलिस को दूंगा. उन्होंने कहा कि इन आरोपों के कारण उनकी छवि धूमिल हुई है और वो इसके लिए महिला पर मानहानि का मुकदमा दर्ज कराएंगे.