लखनऊ. समाजवादी पार्टी (SP) में चाचा-भतीजे की लड़ाई अभी पूरी खत्म भी नहीं हुई थी कि पार्टी में प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद शिवपाल सिंह ने रामगोपाल यादव के भांजे को पार्टी से बाहर कर दिया है. बताया जा रहा है कि MLC अरविंद यादव पर जमीन कब्जाने के आरोप लगा था जिससे उन्हें पार्टी से बाहर कर दिया है. अरविंद को इसी साल मैनपुरी से MLC बनाया गया था.
 
ख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अरविंद को पार्टी से निकाले जाने की एक और वजह पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होना है. इसके अलावा अरविंद पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के विरोध में असम्मानजनक और अमर्यादित टिप्पणी को पार्टी ने निष्कासन का आधार बनाया गया है. शिवपाल ने इसके अलावा इटावा के पूर्व प्रधान अखिलेश कुमार यादव को भी पार्टी से निष्कासित कर दिया है. 
 
बता दें कि मुलायम परिवार में कलह के वक्त रामगोपाल यादव जहां मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पक्ष में खड़े थे, वहीं शिवपाल रामगोपाल यादव के विरोध में थे. बताया जा रहा कि शिवपाल यादव का यह निर्णय उसी चिढ़ का नतीजा है, जिसे उन्होंने यूपी प्रदेश अध्यक्ष का पद संभालते ही लिया.