नई दिल्ली. दिल्ली में केजरीवाल सरकार और एलजी नजीब जंग के बीच फिर से विवाद की स्थिति उत्पन्न हो गई है. एलजी ऑफिस ने केजरीवाल सरकार के दो मंत्रियों के आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि मंत्रियों ने उप-राज्यपाल से मिलने के लिए पहले से अपॉइंटमेंट नहीं लिया था. जिसके कारण वो एलजी से नहीं मिल सकें.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बता दें कि शनिवार सुबह 11 बजे केजरीवाल सरकार के दो मंत्री सतेंद्र जैन और कपिल मिश्रा उपराज्यपाल से मिलने उनके आवास और ऑफिस गए थे. लेकिन उनकी नजीब जंग से मुलाकात नहीं हो सकी थी. मुलाकात नहीं होने से निराश दोनों मंत्रियों ने उपराज्यपाल पर मिलने के लिए समय नहीं देने के आरोप लगाए थे. 
 
एलजी ऑफिस ने प्रेस रिलीज जारी करके सफाई दी कि शनिवार को सुबह 11.45 बजे दिल्ली सरकार की दो मंत्री बिना किसी अपॉइंटमेंट और सूचना के उपराज्यपाल से मिलने उनके ऑफिस पहुंचे थे. प्रेस रिलीज में दोनों मंत्रियों पर आरोप लगाया कि दोनों ने केवल मीडिया की कवरेज पाने के लिए ये सब किया. ऑफिस की ओर से जारी प्रेस नोट में कहा गया कि ये बड़ा ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि दिल्ली की जनता गंभीर समस्याओं से जूझ रही है और जनता के द्वारा चुनी गई सरकार मौजूदा मुद्दों पर राजनीति कर रही है.