लखनऊ. करीब तीन दिन तक चले कलह के बाद सीएम अखिलेश यादव ने अपने चाचा शिवपाल यादव को पीडबल्यू छोड़ कर सारे विभाग वापस दे दिए हैं. साथ ही  गायत्री प्रसाद प्रजापति को भी कैबिनेट में फिर से शामिल किया गया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इससे पहले शुक्रवार को अखिलेश और शिवपाल के बीच करीब आधे घंटे तक बातचीत हुई थी. उसके बाद सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने कहा था कि पार्टी में कोई मनमुटाव नहीं है. सब लोग एक साथ हैं. उन्होंने आगे कहा कि अखिलेश भले ही सीएम हैं लेकिन वे उनकी बात को नहीं काटेंगे.
 
बता दें कि गुरुवार की शाम को शिवपाल ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया था, लेकिन उसके अगले दिन ही शुक्रवार को अखिलेश यादव और मुलायम सिंह ने शिवपाल का इस्तीफा नामंजूर कर दिया था.
 
हालांकि अखिलेश के इस फैसले का उनके समर्थकों विरोध भी कर रहे हैं. वे चाचा को हटाओ, सपा को बचाओ के नारे लगा रहे हैं.