पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शहाबुद्दीन मामले पर कहा है कि इस मामले में कानून अपना काम करेगा. इससे पहले यह कहा गया था कि बाहुबली नेता शहाबुद्दीन की रिहाई के खिलाफ बिहार की नीतीश सरकार सुप्रीम कोर्ट जा सकती है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इसके अलावा नीतीश ने कहा है कि इस मामले को लेकर उनके गठबंधन में किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं है. बता दें कि 11 साल जेल में बिताने के बाद जमानत पर छूटकर निकले आरजेडी के बाहुबली नेता और सीवान के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन ने जेल से बाहर आते ही यह कहा था कि आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव उनके नेता हैं, जबकि नीतीश कुमार को हालात ने नेता बनाया.
 
 
शहाबुद्दीन के इस बयान के बाद से यह कयास लगाए जा रहे थे कि इस महागठबंधन में शहाबुद्दीन को लेकर कुछ परेशानियां चल रही हैं. इन सब बातों पर रोक लगाते हुए नीतीश ने आज यह कहा है कि उनके गठबंधन में कोई दिक्कत नहीं है. 
 
महागठबंधन की पार्टियां
 
बिहार के इस महागठबंधन में नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (JDU), लालू प्रसाद यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (RJD) और कांग्रेस शामिल हैं.
 
 
बता दें कि शहाबुद्दीन पर 40 से ज्यादा हत्या, अपहरण जैसे गंभीर क्रिमिनल केस चल रहे हैं. सीवान के पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या के पीछे भी शहाबुद्दीन का हाथ होने की बात कही जा रही है.