मुंबई. केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने मोदी सरकार के अच्छे दिन के नारे पर ऐसी टिप्पणी की है, जिसे जानकर हर किसी को हैरानी होगी. गडकरी ने कहा है कि अच्छे दिन कभी नहीं आते हैं, यह नारा हमारे गले की हड्डी बन गया है. गडकरी ने यह बात मुंबई में एक कार्यक्रम में कही है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
कार्यक्रम में जब उनसे अच्छे दिन के बारे में पूछा गया तो गडकरी ने कहा, ‘अच्छे दिन कभी नहीं आते. यह नारा हमारे गले की हड्डी बन चुका है.’ केंद्रीय परिवहन मंत्री ने आगे कहा कि अच्छे दिन की बात पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने की थी, जो अब हमारे साथ चिपक गई है.
 
उन्होंने कहा, ‘पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने प्रवासियों के कार्यक्रम में अच्छे दिन के लिए इंतजार करने की बात कही थी. इसी के जवाब में मोदी जी ने कहा था कि अगर हमारी सरकार सत्ता में आएगी तो अच्छे दिन आएंगे.’
 
गडकरी ने आगे कहा कि भारत अतृप्त आत्माओं का महासागर है, यहां अमीर लोग भी सवाल करते हैं कि अच्छे दिन कब आएंगे. उन्होंने कहा, ‘भारत अतृप्त आत्माओं का महासागर है, यहां जिसके पास सब कुछ है, उसे और पाने की चाहत होती है. हालांकि यह सोच गलत नहीं है, लेकिन यहां अमीर भी असंतुष्ट हैं और ऐसे ही लोग सवाल करते हैं कि अच्छे दिन कब आएंगे?’
 
बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान इस नारे का प्रयोग किया था. लोकसभा चुनाव के दौरान इस नारे को गाने का रूप भी दिया गया था.