महू. कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बाबा साहेब अंबेडकर की धरती से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) को ललकारा. उन्होंने नाम लिए बगैर कहा कि देश में जातिवाद फैलाने वाली विचारधारा एक-दूसरे को लड़ाती है, इसे रोकना होगा. ऐसा करके ही डॉ. भीमराव अंबेडकर के सपनों को पूरा किया जा सकता है. उन्होंने जातिवाद को देश की तरक्की में बाधक बताया.

राहुल ने आगे कहा,  ‘जातिवाद का मतलब किसी को अधिकार दिलाना और किसी को अधिकार से दूर रखना है तो हमारी लड़ाई सभी को अधिकार दिलाने के लिए होगी.’ उन्होंने कहा,  ‘कुछ लोग कहते हैं कि देश की प्रगति के लिए सड़क और रेल लाइन जरूरी है, मैं भी मानता हूं कि यह सब जरूरी है, लेकिन जब तक कुछ लोगों को अधिकारों से दूर रखा जाता है, तब तक देश पूरी क्षमता के साथ प्रगति नहीं कर सकता.’

उन्होंने कहा कि बाबा साहब सिर्फ दलितों के नहीं थे, उन्होंने सभी वर्गो के विकास के लिए काम किया था. आज देश में जाति को महत्व दिया जाता है. राजनीति ही नहीं, शिक्षा के क्षेत्रों में भी जातिवाद को महत्व दिया जा रहा है. इसके पीछे एक विचारधारा काम कर रही है, जिससे लड़ना आसान नहीं है. 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App