चंडीगढ़.  कांग्रेस के दलित कॉन्फ्रेंस में गायक से नेता बने हंस राज हंस ने जमकर हंगामा किया है. हंस राज ने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी वाल्मीकि समाज के साथ भेदभाव करती है. इस दौरान कांग्रेस विधायक दल के नेता चरणजीत सिंह चन्नी और हंस राज हंस के बीच बहस और धक्का-मुक्की भी हुई है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
चंड़ीगढ़ के नयागांव में कांग्रेस ने दलित समाज के लोगों के साथ कांफ्रेंस का आयोजन किया था. सब कुछ सही चल रहा था. लेकिन जब चरणजीत सिंह भाषण देने मंच पर पहुंचे और भाषण के दौरान कहा कि पार्टी में दलितों को सम्मान मिला है. कांग्रेस हर धर्म और जाति के लोगों को साथ लेकर चलती है. इतना सुनते ही हंस राज अपनी सीट से उठकर मंच पर पहुंच गए और हाईटैक ड्रामा शुरू कर दिया.
 
‘कांग्रेस ने मेरे साथ धोखा किया है’
इस दौरान उन्होंने चिन्ना की माइक भी छिन ली और कहने गले कि यह सब झूठ है. कांग्रेस ने उनके साथ धोखा किया है. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस के कुछ नेता उनके खिलाफ साजिश करते हैं उनके मुताबिक जब उन्हें राज्यसभा का सदस्य बनाने की बात उठी थी तो अनुसूचित जाति के ही कुछ नेताओं ने उनका टिकट काट दिया है.
 
मंच से कूदकर की नारेबाजी
मंच पर मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार कैप्टन अमरिंदर सिंह, पंजाब कांग्रेस की प्रभारी आशा कुमार की मौजूदगी में हंस राज मंच बोलते-बोलते मंच से कूद गए और जमकर नारेबाजी भी करने लगे.