देवरिया :कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की देवरिया से दिल्ली तक की यात्रा 6 सितंबर के शुरू हो रही है. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को देखते हुए कांग्रेस का यह अभियान काफी अहम माना जा रहा है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
राहुल के इस कार्यक्रम को कांग्रेस नेताओं ने इसे ‘महायात्रा’ का नाम दिया है.  वहीं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का कहना है कि उनकी यह यात्रा गरीबों, किसानों, मजदूरों के अधिकारों के लिए हैं. उन्होंने ट्विवटर पर लिखा ‘ 6 सितंबर से मेरी यात्रा देवरिया से दिल्ली तक के लिए शुरू होगी. इसका मकसद गरीबों, किसानों, मजदूरों के अधिकारों की रक्षा करना है.’
 
आपको बता दें कि 2017 में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर इस कांग्रेस ने इस यात्रा का प्लान बनाया है जो पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिले देवरिया के रुद्रपुर इलाके के गांव पंचलारी कीरतपुरा से शुरू होगी. राहुल की यह यात्रा करीब 25 हजार किलोमीटर तक का सफर तय करेगी. जो यूपी के कई जिलों से होते हुए दिल्ली तक जाएगी.
 
राहुल गांधी इस यात्रा का पहले दिन के कार्यक्रम की जानकारी भी ट्विवटर पर दी है. जिसके मुताबिक रुद्रपुर में किसानों के घर-घर जाकर उनसे मांगपत्र लिए जाएंगे. इसके बाद  में ‘खाट सभा’ का आयोजन होगा फिर देवरिया में एक रोड शो का आयोजन होगा.

गांव कंचनपुर किसानों से बातचीत करेंगे और  कसाया फिर खाट सभा होगी. यहां से यात्रा गोरखपुर के लिए रवाना होगी. रात में राहुल गांधी का यहां रुकने का कार्यक्रम है. दूसरे दिन बस्ती में किसानों के साथ बातचीत होगी.  पूरे कार्यक्रम के मुताबिक राहुल गांधी दिल्ली तक की यात्रा के दौरान 233 विधानसभाओं का दौरा करेंगे. 

आपको बता दें कि इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में रोड शो कर चुकी हैं. जिसमें आई भीड़ से कांग्रेस नेताओं में काफी उत्साह है. इसको देखते हुए राहुल गांधी की महायात्रा की योजना बनाई गई है. 
 
गौरतलब है कि काफी सालों बाद कांग्रेस उत्तरप्रदेश के विधानसभा चुनाव को लेकर इतनी सक्रिय दिखाई दे रही है. यही वजह है कि पार्टी ने चुनाव की घोषणा से काफी पहले ही दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित कर दिया है.