चंडीगढ़. मानेसर में भूमि आवंटन मामले में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर शिकंजा कसता नजर आ रहा है. इस मामले में आज सीबीआई ने हुड्डा के घर सहित 20 जगहों पर छापेमारी है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
सीबीआई की एंटी करप्शन यूनिट ने भूपेंद्र सिंह के साथ-साथ छतर सिंह, एमएल दयाल और एसबी ढिल्लन के ठिकानों पर भी छापेमारी हुई है. मानेसर जमीन मामले की जांच पिछले साल ही सीबीआई को सौंपी गई थी. सीबीआई ने हुड्डा के पंचकूला, चंडीगढ़, दिल्ली और रोहतक के ठिकानोंं पर छापेमारी की है. छापेमारी शनिवार की सुबह 4 बजे हुई.
 
यह घोटाला हुआ था उस समय हरियाणा में कांग्रेस की सरकार थी और भूपेंद्र सिंह हुड्डा उस समय मुख्यमंत्री थे. उसके बाद 2015 में राज्य में बीजेपी की सरकार बनी और मनोहर लाल खट्टर सीएम बने. खट्टर सरकार ने ही मामले की जांच सीबीआई को सौंपी थी. यह घोटाला अगस्त 2004 से लेकर अगस्त 2007 के बीच हुआ था.
 
बता दें कि मानेसर में हुड्डा सरकार पर अपने कार्यकाल में 900 एकड़ जमीन को अधिग्रहण किया था और उस जमीन को बिल्डरों को मनमाने दाम पर बेचा था. हुड्डा पर जमीन मालकों को 1500 करो़ड़ रुपये के नुकसान पहुंचाने का भी आरोप है.