चंडीगढ़ : बीजेपी से नाता तोड़ चुके नवजोत सिंह सिद्धू की आम आदमी पार्टी के साथ चल रही बात आखिरकार टूट गई है और इसके साथ ही सिद्धू ने पंजाब में “आवाज़-ए-पंजाब” नाम से एक नया मोर्चा बनाने का ऐलान कर दिया है. सिद्धू के इस मोर्चे में हॉकी खिलाड़ी से राजनेता बने परगट सिंह के अलावा निर्दलीय विधायक भाई सिरजीत सिंह बैंस और बलविंदर सिंह बैंस भी शामिल हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद से ही सिद्धू के आम आदमी पार्टी में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही थीं. सिद्धू की आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल समेत कई नेताओं से मुलाकात भी हुई थी. माना जाता है कि सिद्धू पंजाब में आप की तरफ से सीएम कैंडिडेट बनना चाहते थे लेकिन आम आदमी पार्टी इसके लिए तैयार नहीं हुई.
 
सिद्धू ने मोर्चे के गठन का ऐलान करते हुए कहा कि परगट सिंह और बैंस बंधुओं के साथ मिलकर उन्होंने आवाज़-ए-पंजाब बनाया है. मोर्चे के गठन पर औपचारिक घोषणा 9 सितंबर को होगी. पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में सिद्धू के मोर्चे के उतरने से मुकाबला चौतरफा होने के आसार बन सकते हैं.
 
राज्य में सत्तारूढ़ अकाली दल और भाजपा की सरकार जहां सत्ता बचाए रखने की लड़ाई लड़ रही है वहीं कांग्रेस सत्ता में वापसी के लिए रणनीति बना रही है. राज्य की 13 में 4 लोकसभा सीटें जीतने से उत्साहित आम आदमी पार्टी राज्य में अगली सरकार बनाने का दावा कर रही है. इन तीन के अलावा अब सिद्धू का नया मोर्चा राज्य के वोट समीकरण को और उलझाएगा, ये तय दिख रहा है.