नई दिल्ली. बिहार के आगामी विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस सत्तारूढ़ जेडी (यू) को चुन सकती है और मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के लिए नीतीश कुमार का समर्थन भी कर सकती है. बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक चौधरी ने आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से इस मसले पर मुलाक़ात भी की है. हालांकि, यह सब आरजेडी-जेडी (यू) गठबंधन की संभावना पर निर्भर करेगा. 

जनता परिवार के दोनों घटकों जेडी (यू) और आरजेडी में चुनाव से पहले विलय की संभावना खत्म हो गई है और दोनों दल गठबंधन को लेकर बात कर रहे हैं। ऐसे में कांग्रेस के रुख से आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पर दबाव बढ़ सकता है. राज्य के कांग्रेस नेताओं ने मीडिया से कहा, ‘हमें विश्वास है कि आरजेडी और जेडी (यू) विधानसभा चुनाव से पहले गठबंधन करेंगे, लेकिन अगर गठबंधन नहीं होता है तो कांग्रेस इस बार नीतीश कुमार के साथ जा सकती है.’ कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि राज्य कांग्रेस के प्रमुख अशोक चौधरी ने शनिवार को नई दिल्ली में पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर उन्हें बिहार में जमीनी हकीकत की जानकारी दी थी. सूत्रों के मुताबिक, ‘चौधरी ने राहुल को सुझाव दिया है कि अगर आरजेडी-जेडी (यू) का गठबंधन नहीं होता तो कांग्रेस को नीतीश के साथ जाना चाहिए. पार्टी हाई कमान से मिल रहे संकेतों से पता चल रहा है कि कांग्रेस इस बार जेडी (यू) को प्राथमिकता देगी.’ 

IANS से भी इनपुट 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App