नई दिल्ली. महात्मा गांधी की हत्या से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) का नाम जोड़ने पर मानहानि के मुकदमे का सामना कर रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को कहा है कि वह RSS के लिए कहे हरेक शब्द पर कायम हैं. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मैं RSS के घृणित और विभाजनकारी एजेंडे के ख‍िलाफ हमेशा लड़ता रहूंगा. मैं अपने के हर एक शब्द पर आज भी कायम हूं. इसके साथ ही राहुल ने अपने पुराने भाषण का वीडियो भी शेयर किया. 

 
क्या है वीडियो में
2014 में लोकसभा चुनाव दौरान राहुल गांधी ने भ‍िवंडी में एक सभा के दौरान कहा था कि RSS के लोगों ने गांधीजी को गोली मारी और आज उनके लोग गांधीजी की बात करते हैं. सरदार पटेल कांग्रेस के नेता थे. उन्होंने RSS के बारे में साफ सुथरा लिखा है. उनके संगठन के बारे में बहुत साफ सुथरा लिखा है और आज कांग्रेस पार्टी के नेताओं को कहते हैं कि अरे वो तो हमारे नेता थे. तो सोच हम देते हैं, नेता हमारे होते हैं, उनका वो विरोध करते हैं और फिर अपना बता देते हैं.
 
कोर्ट में राहुल ने क्या कहा ?
बता दें कि राहुल गांधी बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में कहा था कि महात्मा गांधी की हत्या के लिए RSS को कभी भी दोषी नहीं ठहराया हालांकि उन्होंने यह जरूर कहा था कि RSS से जुड़ा व्यक्ति गांधी की हत्या का जिम्मेदार है. कोर्ट ने कहा कि ऐसे में RSS के लिए मानहानि वाली बात नहीं लगती. कोर्ट में मामले की अगली सुनवाई 1 सितंबर को होगी. 
 
क्या कहा नायडू ने ?
केंद्रीय मंत्री वैंकया नायडू ने कहा कि राहुल गांधी को सदबुद्धि आ ही गई. भले ही यह उनका अपनी बात से पलटना है लेकिन उन्होंने अच्छी पलटी मारी. नायडू ने RSS को देशभक्त संगठन बताया जो कभी भी और कहीं भी अपनी सेवाएं देने को तत्पर रहता है. नायडु ने ट्वीट कर कहा कि चलिए अच्छा है, राहुल गांधी ने आखिरकार कोर्ट के सामने यह स्वीकार कर लिया कि RSS महात्मा गांधी की हत्या का दोषी नहीं है.