अहमदाबाद. बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो और उत्तरप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती गुरुवार को गुजरात के ऊना पहुंचीं. इस दौरान उन्होंने ऊना कांड की आड़ में केंद्र और गुजरात सरकार पर जमकर हल्ला बोला. उन्होंने कहा कि जब दलितों की पिटाई टीवी पर दिखाई जा रही थी तब उन्हें ऐसा लग रहा था जैसे कोई उनकी कमर पर लाठियां बरसा रहा हो.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
मायावती ने गोरक्षा के नाम पर दलितों के उत्पीड़न को लेकर अपना गुस्सा जाहिर करते हुए बीजेपी को आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा, ‘बीते दिनों गोरक्षा के नाम पर कुछ दलितों को बेरहमी से पीटा गया. हाथ बांध कर उन्हें मारा गया. उनके कमर पर चोटें साफ तौर पर दिखाई दे रही थीं. जब उनकी कमर पर मारा जा रहा था तब मुझे लग रहा था कि कोई मेरी कमर पर मार रहा है.’
 
मोदी सरकार पर वार करते हुए मायावती ने कहा कि केंद्र में जब से मोदी सरकार आई है तब से देश भर में दलितों, धार्मिक अल्पसंख्यकों और अन्य पिछड़ी जाति के लोगों पर हमले काफी बढ़े हैं. गोरक्षा के नाम पर मुसलमानों को निशाना बनाया और पहले दादरी जैसी घटना सामने आई. अब दलितों को निशाना बनाया जा रहा है.
 
साथ ही मायावती ने कहा, ‘जब मैंने उन्होंने ऊना आने की बात कही थी तो सरकार ने यूपी के एक नेता से मेरे खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करके साजिश के तहत मुझे गुजरात आने से रोका. मेरे आने से पहले ही पीड़ितों को भी अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया.’

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App