नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल के नदिया में चार दिन पहले एक बुजुर्ग नन के साथ हुए गैंगरेप की घटना पर आज फिर संसद में हंगामा हुआ. मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है जिसके चलते राज्य की ममता और केंद्र की मोदी सरकार आलोचनाओं से घिरी हुई है. दूसरी तरफ ईसाईयों के खिलाफ भारत में बढ़ते हमलों की जांच के लिए वेटिकन सिटी से एक टीम कल रानाघाट आने वाली है. 

आपको बता दें कि वेटिकन में पोप रहते हैं औऱ ईसाईयों का सबसे बड़ा धार्मिक केंद्र है. उधर हिसार चर्च में तोड़फोड़ के मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने गांव के सरपंच सहित 5 लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया. हिसार में तो गिरफ्तारी हो गई लेकिन नदिया में चार दिन पहले बुजुर्ग नन के साथ हुए गैंगरेप के आरोपी अभी तक पक़ड में नहीं आए हैं. संसद में सरकार ने भरोसा दिलाया कि ईसाइयों समेत सभी समुदायों को पूरी सुरक्षा दी जाएगी. नदिया नन गैंगरेप केस और हिसार चर्च तोड़फोड़ पर संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू ने भरोसा दिलाया.
 
संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू नें कहा कानून व्यवस्था राज्य का मुद्दा है. केंद्र सरकार नदिया नन गैंगरेप और हिसार चर्च तोड़फोड़ जैसी घटनाओं की निंदा करती है. संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा केंद्र सरकार अपनी जिम्मेदारी निभा रही है. राज्यों को कार्रवाई करनी चाहिए. संसद में ईसाइयों के खिलाफ हमलों का मुद्दा गूंजा.
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App