नई दिल्ली. पिछले दिनों सक्रिय राजनीति से सन्यास लेने की घोषणा करते हुए इस्तीफा देने वाले गुरुदास कामत एक बार फिर से कांग्रेस में वापसी कर शुक्रवार से पार्टी महासचिव का पद संभालेंगे. कामत ने कहा कि वह शुक्रवार से अपने प्रभार क्षेत्र गुजरात, राजस्थान, दादरा नगर हवेली , दमन और दीव का नेतृत्व संभाल लेंगे. वहीं दूसरी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने भी साफ किया है कि कामत की परेशानियों पर विचार किया जाएगा.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
‘लोगों की सेवा करने का उचित माध्यम’
गुरुदास कामत ने बयान में जानकारी देते हुए यह भी कहा है कि पहले मैंने कुछ निजी कारणवश अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव पद और कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दिया था, ताकि मैं बिना किसी दल से जुड़े सिर्फ समाज सेवा पर ध्यान दे सकूं. उन्होंने यह पार्टी अध्यक्षा सोनिया गांधी से मेरी मुलाकात के बाद मुझे लगता है कि कांग्रेस पार्टी ही इस देश के लोगों की सेवा करने का सर्वश्रेष्ठ माध्यम है, जिससे मेरा मन बदला और कांग्रेस में रहकर काम करने का निर्णय लिया है. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
पार्टी से दिया था इस्तीफा
वहीं इससे पहले उन्होंने राजनीति से सन्यास लेने की घोषणा करते हुए कहा था कि उन्होंने निजी कारणों के चलते इस्तीफा दिया है, हालांकि सामाजिक कार्य से किनारा नहीं किया है. उन्होंने कहा था कि राजनीति से रिटायर होने का मतलब सामाजिक कार्यों से रिटायर होना नहीं है. विभिन्न एजेंसियां जो भी मुद्दा उठाएं या मदद की मांग करें, उन लोगों के लिए वह उपलब्ध रहेंगे लेकिन पार्टी के ठप्पे के बिना.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App