लखनऊ. बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी से इस्तीफा देने वाले वरिष्ठ नेता स्वामी प्रसाद मौर्य के पार्टी छोड़ने पर कहा है कि बीएसपी उनको निकालने वाली थी इसलिए उन्होंने पार्टी छोड़कर उपकार किया है. उन्होंने कहा कि मौर्य परिवारवाद के मोह में फंसकर पार्टी की नीतियों के खिलाफ काम कर रहे थे.

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर

मायावती ने मौर्य के इस्तीफे के बाद कहा कि 2012 के विधानसभा चुनाव में भी मौर्य ने बेटे और बेटी को टिकट दिलाया था जो हार गए. लोकसभा चुनाव में भी वो बेटा-बेटी के लिए टिकट मांग रहे थे. इस बार भी कह रहे थे कि बेटा, बेटी और उनको टिकट मिले.

मायावती ने कहा कि 2012 में भी वो इसके लिए तैयार नहीं थीं कि उनके बेटा-बेटी को टिकट दिया जाए लेकिन पार्टी के दूसरे नेताओं ने सलाह दी कि चुनाव एनाउंस हो चुका है इसलिए माहौल खराब न हो इसके लिए इस बार मौर्य की मांग को मान लिया जाए लेकिन आगे ऐसा करेंगे तो एक्शन ले लीजिएगा.

स्वामी प्रसाद मौर्य ने छोड़ी BSP, बोले- टिकट बेचती हैं मायावती

उन्होंने कहा कि इस बार भी जब मौर्य बेटा-बेटी के लिए टिकट मांगने लगे तो मैंने उनसे कहा कि क्या आप पर मुलायम सिंह यादव का असर हो गया है कि पूरे परिवार को राजनीति में सेट करने लगे हैं. मायावती ने कहा कि इस बार मैंने उन्हें साफ-साफ कह दिया कि सिर्फ उनको टिकट मिलेगा, बाल-बच्चों को टिकट नहीं मिलेगा.

मायावती ने कहा कि उन्होंने मौर्य से दो टूक कह दिया कि अगर बाल-बच्चों को टिकट दिलाना है तो दूसरी पार्टी में जा सकते हैं जहां उनको परिवारवाद को बढ़ाना देने का मौका मिले. 2012 में मौर्य के बच्चों को टिकट इसलिए दिया गया था क्योंकि चुनाव एनाउंस हो गया था और उस समय उनकी जिद को पार्टी नेताओं की सलाह पर मान लिया गया था.

Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter

मायावती ने मौर्य के इस आरोप पर कि वो टिकट बेच रही हैं पर सवाल पूछा कि मौर्य खुद बताएं कि उन्होंने अपने टिकट या बेटे और बेटी को टिकट के लिए अब तक बीएसपी को कितना पैसा दिया है. उन्होंने कहा कि बीएसपी छोड़ने वाले नेताओं की ये आदत हो गई है कि वो मुझे दौलत की बेटी कहने लगते हैं.

मायावती ने कहा कि मौर्य को ये बताना चाहिए कि उन्होंने पार्टी असल में क्यों छोड़ी. उन्होंने कहा कि जो लोग पार्टी छोड़ते हैं वो रटा-रटाया बोलने लगते हैं कि बीएसपी में पैसे पर टिकट बिकता है लेकिन ये नहीं बताते कि उन्होंने पार्टी के अंदर क्या गलती की है.

मायावती ने कहा कि मुलायम सिंह की समाजवादी पार्टी की तरह बीएसपी में परिवारवाद नहीं चलता. ये नहीं होता कि पहले बेटे को टिकट दो, फिर बेटे के बेटे को टिकट दो, फिर भाई को टिकट दो, फिर भाई के बेटे को भी टिकट दो, फिर पत्नी को टिकट दो, फिर पतोहू को टिकट दो. ये सब नहीं चलता है हमारी पार्टी में.

मायावती ने कहा कि जैसा संकेत मिल रहा है कि मौर्य समाजवादी पार्टी में जा रहे हैं तो ये बिल्कुल सही पार्टी है उनके लिए जहां उन्हें खुद भी टिकट मिलेगा और उनके बेटे-बेटी को भी टिकट मिलेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App