पटना. राज्यसभा और विधान परिषद चुनाव को लेकर आरजेडी में भारी उठा-पटक चल रही है. लेटेस्ट चर्चा है कि सिवान के चर्चित पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की पत्नी हिना शहाब ने विधान परिषद में जाने की पार्टी सुप्रीमो लालू यादव की पेशकश ठुकरा दी है.
 
सूत्रों का कहना है कि हिना शहाब ने पार्टी को साफ-साफ शब्दों में कह दिया है कि अगर किसी को बंगले के लिए राज्यसभा जाना है तो उनको भी अपने पति को देखना है जिन्हें आरजेडी की सरकार में हिस्सेदारी के बावजूद भागलपुर जेल भेज दिया गया है.
 
 
सूत्रों का कहना है कि पार्टी की तरफ से हिना को समझाने की कोशिश की गई और ये ऑफर भी दिया गया कि उन्हें विधान परिषद में सदस्य बनाने के बाद नीतीश कुमार की सरकार में मंत्री भी बनाया जाएगा लेकिन हिना मानने को तैयार नहीं हुईं. 
 
अपुष्ट सूत्रों का कहना है कि शहाबुद्दीन चाहते हैं कि लालू यादव उनकी पत्नी हिना शहाब को राज्यसभा भेजें. राज्यसभा में लालू की पार्टी 2 लोगों को भेजने की हालत में है जिनमें एक तो उनकी पत्नी राबड़ी देवी हैं और दूसरे वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी. राज्यसभा सीट को लेकर लालू की बड़ी बेटी मीसा भारती भी नाराज़ चल रही हैं.
 
 
आरजेडी प्रमुख लालू यादव ने शहाबुद्दीन को नीतीश सरकार द्वारा भागलपुर जेल ट्रांसफर करने के बाद ही मन बनाया था कि वो हिना शहाब को विधान परिषद में भेजकर अपने तरीके से नीतीश कुमार को जवाब दे देंगे लेकिन हिना के इनकार के बाद मामला और उलझता दिख रहा है.
 
कहने वाले तो यहां तक कह रहे हैं कि हिना शहाब ने पार्टी को दो टूक और तल्ख लहजे में यहां तक कह दिया कि अगर विधान परिषद ही जाना है तो उन्हें कोई भी पार्टी वहां भेज सकती है. हिना के तेवर से ऐसा लगता है कि शहाबुद्दीन इस बार आरजेडी सुप्रीमो से रफ एण्ड टफ डील करने के मूड में हैं.