कोलकाता. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में सबसे ज्याद उम्र के उम्मीदवार और 10 बार कांग्रेस विधायक रह चुके ज्ञान सिंह सोहनपाल हार गए. 91 साल के सोहनपाल को खड़गपुर सदर सीट से बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने हरा दिया. ये दिलीप घोष का पहला चुनाव था.
 
आरएसएस के प्रचारक रह चुके दिलीप घोष को पिछले साल अक्टूबर में बीजेपी ने बंगाल का अध्यक्ष बनाया था. उनसे पहले राहुल सिन्हा बंगाल के प्रदेश अध्यक्ष थे जो जोरासांको सीट से हार गए. पीएम नरेंद्र मोदी ने बंगाल में पार्टी के चुनाव प्रचार की शुरुआत दिलीप घोष की सीट से ही की थी. 
 
दिलीप घोष को 61446 वोट मिले जबकि ज्ञान सिंह को 55137. मतगणना की शुरुआत में ज्ञान सिंह बढ़त बनाए हुए थे लेकिन मतगणना खत्म होते-होते 11वीं पर विधानसभा पहुंचने का उनका सपना टूट चुका था.
 
बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राहुल सिन्हा जोरासंको से टीएमसी के हाथों हारे
 
बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राहुल सिन्हा जोरासंको सीट से लड़े थे जहां उन्हें टीएमसी की स्मिता बख्शी ने हरा दिया. स्मिता को 44766 वोट मिले जबकि राहुल सिन्हा को 38476 वोट. बीजेपी के पास बंगाल विधानसभा में तीन विधायक होंगे जो इस बार जीत गए हैं. दिलीप घोष के अलावा बीजेपी के स्वाधीन सरकार बैष्नवनगर सीट से और मनोज तिग्गा मदारीहाट सीट से जीते हैं.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App