मुंबई. हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी, इलाहाबाद विश्वविद्यालय, एफटीआईआई के छात्र मुंबई में स्टूडेंट यूथ असेंबली के लिए मिले. इनमें राष्ट्रद्रोह के आरोप में जेल जा चुके जेएनयू छात्र संघ के नेता कन्हैया कुमार भी शामिल हुए.
 
पहले कार्यक्रम वर्ली में होना था, लेकिन इजाज़त नहीं मिलने की वजह से इसका आयोजन तिलक नगर के आदर्श विद्यालय में हुआ. इस अवसर पर सभी वक्ताओं के निशाने पर केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही रहे.
 
राष्ट्रद्रोह के आरोप झेल रहे, जेएएनयू छात्रसंघ नेता कन्हैया कुमार मुंबई पहुंचे तो उनका जोरदार स्वागत हुआ. मंच पर कई विश्वविद्यालयों के छात्र संघ के नेता, सामाजिक कार्यकर्ता भी जुटे, लेकिन इंतज़ार कन्हैया का था. कन्हैया ने आते ही कह दिया कि वो एक्टर नहीं फाइटर हैं.
 
कन्हैया कुमार ने कहा सेल्फी खींचने वाले पीएम के साथ, सेल्फी खींचकर आप आंदोलन नहीं जीत सकते. जुमलेबाज़ों और जांबाज़ों में संघर्ष छिड़ा है. इनकी नफरत देखिए हर शहर में मुझ पर जूता फेंकते हैं, लेकिन वो भी सिर्फ दाएं पैर का, अगर लेफ्ट भी फेंक दें तो जोड़ी बन जाए. कन्हैया यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा सरकार कई कार्यक्रम चला रही है, लेकिन ये ‘मेक इन इंडिया’ नहीं फेक इन इंडिया है.
 
कन्हैया ने बीजेपी के साइबर सेल पर झूठे वीडियो बनाने का भी आरोप लगाया. कार्यक्रम में सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ भी पहुंची, जिन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हनुमान जयंती पर शुभकामना देना शर्मनाक लगा. पूर्व जस्टिस कोशले पाटिल और फिल्मकार आनंद पटवर्धन के निशाने पर भी केंद्र सरकार ही रही.
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App