नई दिल्ली. द्वारकापीठ के शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा है कि अगर सुप्रीम कोर्ट उनके पक्ष में निर्णय देता है तो वे किसी राजनीतिक मदद के बिना अयोध्या में ‘भगवान के जन्मस्थान’ पर राम मंदिर का निर्माण करेंगे. दिल्ली के रामलीला मैदान में हिंदू धर्म संसद को संबोधित करते हुए सरस्वती ने बीजेपी नेताओं से कहा कि वे राम मंदिर के निर्माण की बात करना बंद करें. 

शंकराचार्य ने कहा, ‘हम हाथ जोड़कर आपसे (राजनाथ सिंह) आग्रह करते हैं कि कि राम जन्मभूमि के बारे में बात मत करिए. हम उस स्थान पर राम मंदिर का निर्माण करेंगे.’  गौरतलब है कि पिछले दिनों गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मंदिर निर्माण में देरी के लिए कानून और राज्यसभा में अल्पमत को कारण बताया. 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App