नई दिल्ली. कांग्रेस ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि आरएसएस खुद के संविधान के खिलाफ एक राजनीतिक संगठन बन गया है. राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा, “जब आरएसएस का संविधान बना था, तो संगठन से कहा गया था कि वे अपने संविधान में यह शामिल करें कि वे कोई राजनीतिक संगठन नहीं है, बल्कि वे सिर्फ सांस्कृतिक, सामाजिक और शैक्षिक गतिविधियों में शामिल रहेंगे. वे इसके लिए राजी हो गए थे.”
 
आजाद ने कहा, “लेकिन अब आरएसएस सांस्कृतिक संगठन नहीं रह गया है. यह शैक्षिक या सामाजिक संगठन नहीं है. यह एक पूर्ण राजनीतिक संगठन बन गया है. लेकिन इसने अपने खुद के संविधान को ताक पर रख दिया है.”
 
आजाद ने कहा कि बीजेपी तो मात्र एक मुखौटा है, सरकार तो आरएसएस चला रहा है.
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App