नई दिल्ली. आज ‘इंटरनेशनल बुद्ध पूर्णिमा दिवस सेलिब्रेशन 2015’  में मुख्य अतिथि के तौर पर पीएम मोदी शिरकत करेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ‘इंटरनेशनल बुद्ध पूर्णिमा दिवस सेलिब्रेशन 2015’ में मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत करेंगे. गौरतलब है कि इस बार मोदी सरकार ने बुद्ध पूर्णिमा को सरकारी स्तर पर मनाने का फैसला करते हुए दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में इस बड़े  सरकारी कार्यक्रम का आयोजन किया है. इस अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम में 31 देशों के प्रतिनिधि मौजूद रहेंगे.
 
यह कार्यक्रम इसलिए भी अहम हैं क्योंकि सूत्रों के मुताबिक इस कार्यक्रम में पीएम मोदी महात्मा बुद्ध के मानवता के दिए संदेशों का जिक्र करते हुए अपनी सरकार पर लगने वाले उन आरोपों का करारा जवाब देंगे जिसमें यह कहा जा रहा है की मोदी सरकार के बनने के बाद देश में धार्मिक अल्पसंख्यकों पर हमला बढ़ा है. सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी एक अमेरिकी संस्था की रिपोर्ट में लगाए गए सभी आरोपों का जवाब दे सकते हैं. इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए सरकार ने गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू की अगुवाई में बाक़ायदा आयोजन समिती का गठन किया था.
 
इस कार्यक्रम में बौद्ध धर्म को मानने वाले देशों के राजदूतों के देश विदेश के बुद्धिस्ट विद्धानों के साथ प्रार्थना सभा होगी जिसमें भगवान बुद्ध के जन्मस्थल नेपाल, भारत और तिब्बत में आए भूकंप त्रासदी के पीडितों के लिए प्रार्थना की जाएगी और उनके साथ एकजुटता दिखाते हुए हरसंभव मदद का संकल्प लिया जाएगा. यह तीसरा मौक़ा है जब बुद्ध पूर्णिमा पर सरकार ने बड़े कार्यक्रम का आयोजन किया है सबसे पहले जवाहरलाल नेहरू की सरकार ने 2500वीं बुद्ध जयंती पर बोधगया में बड़े सरकारी कार्यक्रम का आयोजन किया था और उसके बाद कुशीनगर में 2007 में महात्मा बुद्ध के 2550वें परिनिर्वाण दिवस पर सरकार ने कार्यक्रम का आयोजन किया था.
 
इस कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा और गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू भी मौजूद रहेंगे. यह कार्यक्रम इसलिए भी अहम हैं क्योंकि सूत्रों के मुताबिक इस कार्यक्रम में पीएम मोदी महात्मा बुद्ध के मानवता के दिए संदेशों का जिक्र करते हुए अपनी सरकार पर लगने वाले उन आरोपों का करारा जवाब देंगे जिसमें यह कहा जा रहा है की मोदी सरकार के बनने के बाद देश में धार्मिक अल्पसंख्यकों पर हमला बढ़ा है. सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी एक अमेरिकी संस्था की रिपोर्ट में लगाए गए सभी आरोपों का जवाब दे सकते हैं.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App