लखनऊ. जनता दल-युनाइटेड (जेडी-यू) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में बिहार की तर्ज पर महागठबंधन होगा और उन्हें उम्मीद है कि प्रदेश की जनता इस गठजोड़ पर भरोसा करेगी. उन्होंने कहा कि वह ऐसी परिस्थिति बनाएंगे कि यहां की जनता उनके बनाए महागठबंधन पर भरोसा करेगी. उन्होंने यह भी कहा कि उनकी पार्टी केंद्र और राज्य सरकारों को चुनावी वादे याद दिलाती रहेगी और उन वादों को पूरा कराने के लिए संघर्ष करेगी.
 
‘बुंदेलखंड की हालात खराब’
पार्टी की राज्यस्तरीय बैठक में शामिल होने आए शरद ने कहा, “बुंदेलखंड क्षेत्र के हालात काफी खराब है, यहां भुखमरी जैसे हालात हैं. पेट भरने के लिए यहां का आदमी घर-बार छोड़कर बाहर भाग रहा है. एक समय बुंदेलखंड क्षेत्र हिंदुस्तान के राजनीतिक हालात बदलने वाला क्षेत्र था, लेकिन आज सरकारों की अनदेखी के चलते यहां के हालात काफी खराब हो गए हैं.”
 
‘सपा ने अपना दरवाजा बंद कर लिया’
महागठबंधन में क्या सपा भी आएगी? इस सवाल पर उन्होंने कहा कि सपा ने खुद अपना दरवाजा बंद कर लिया है. बिहार चुनाव के समय हमने सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव से बात कर ने सपा को महागठबंधन में शामिल किया था, लेकिन बाद में उन्होंने क्या किया, यह देश ने देखा.
 
मोदी सरकार पर हमला
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए शरद ने कहा कि 2014 में बड़े-बड़े वादे कर केंद्र में आई मोदी सरकार ने अपना एक भी वादा पूरा नहीं किया. उन्होंने कहा कि यह सरकार बेरोजगारों को रोजगार नहीं दे पाई. महंगाई पर कोई नियंत्रण नहीं है. भारतीय भाषाओं में पढ़ने वाले छात्रों को रोजगार नहीं मिल पा रहा है, जबकि अंग्रेजी भाषा से जुड़े छात्रों को रोजगार मिल रहा है. धर्म-संप्रदाय के नाम पर देश का माहौल बिगाड़ा जा रहा है.
 
‘पुजारियों और मौलवियों को जेल भेजा जाए’
महाराष्ट्र के शनि सिंगणापुर मंदिर और हाजी अली दरगाह में महिलाओं के प्रवेश पर रोक के मुद्दे पर जदयू अध्यक्ष शरद ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार को चाहिए कि वह बेवजह वितंडा खड़ा करने वाले पंडे-पुजारी और मुल्ला-मौलवियों को जेल में डाले. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस कह रहे हैं कि वह पंडे-पुजारी और मुल्ला-मौलवियों को समझाएंगे, लेकिन ये लोग समझाने से नहीं, जेल में डालने से ही मानेंगे.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App