नई दिल्ली. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत के 30 डॉलर के नीचे जाने के बाद कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार पर पेट्रोल के दाम उस हिसाब से नीचे नहीं आने को लेकर हमला बोलते हुए पूछा है कि कब थे अच्छे दिन.

कांग्रेस ने अपनी फेसबुक पेज पर एक ग्राफिक्स डाला है जिसके मुताबिक मनमोहन सिंह के समय में जब कच्चे तेल की कीमत 93 डॉलर के ऊपर चली गई थी तब देश में पेट्रोल 58 रुपए 37 पैसे बिक रहा था. उसमें 14 रुपए 78 पैसा एक्साइज ड्यूटी था.

इसी ग्राफिक्स में दिखाया गया है कि इस समय अंतर्राष्ट्रीय में कच्चे तेल की कीमत 26 डॉलर से कुछ ज्यादा है लेकिन देश में पेट्रोल 59 रुपए 03 पैसा प्रति लीटर बिक रहा है. इसमें एक्साइज ड्यूटी 20 रुपया 48 पैसा है.

मार्केट एक्सपर्ट्स के मुताबिक कच्चे तेल की कीमत में 1 डॉलर प्रति बैरल की कमी से भारत के आयात बिल में 6500 करोड़ की कमी आती है और सब्सिडी पर 900 करोड़ रुपए बचते हैं.

 

 

मोदी जी अन्तराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम कम होने के वाबजूद देश में पेट्रोल के रेट कम ना करने की क्या वजह है?जनता माफ़ नहीं करेगी।

Posted by Indian National Congress on Monday, January 18, 2016

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App