नई दिल्ली. बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने दिल्ली में आम आदमी पार्टी की रैली के दौरान राजस्थान के किसान द्वारा आत्महत्या कर लिए जाने के मामले की सीबीआई जांच की मांग की है. राज्यसभा में मायावती ने कहा कि यह पता लगाने की जरूरत है कि यह घटना कहीं ‘राजनीतिक लाभ’ के उद्देश्य से प्रेरित तो नहीं है. उन्होंने कहा, ‘केंद्र सरकार को यह मामला गंभीरता से लेना चाहिए. सीबीआई इस मामले की जांच करे और यह पता लगाए कि क्या किसान को आत्महत्या करने के लिए उकसाया गया.’ बसपा प्रमुख ने कहा कि बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि की वजह से रबी फसलों के घाटे के बोझ से दबे किसानों को उचित मुआवजा नहीं मिल रहा है.

सीबीआई इस मामले की जांच करे और यह पता लगाए कि क्या किसान को आत्महत्या करने के लिए उकसाया गया

मायावती ने सवाल उठाते हुए कहा, ‘इस तरह की नीतियों की क्या जरूरत है, जब यह मुआवजा जरूरतमंद तक समय पर पहुंच ही नहीं सके?’ उन्होंने मुआवजा वितरण की प्रक्रिया में फेरबदल करने के लिए केंद्र सरकार से हस्तक्षेप की मांग भी की. वहीं आम आदमी पार्टी ने मारे गए किसान के परिवार को 10 लाख रुपये मुआवजे के तौर पर देने की घोषणा की है.