पटना. राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) में अंदरूनी तौर पर समस्या गहराने लगी है. सीनियर पार्टी सांसद और बाहुबली राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने संकेत दिए हैं कि राज्य में विधानसभा चुनावों से पहले वह पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के साथ हाथ मिला सकते हैं. आरजेडी उन पांच पार्टियों में से एक है, जिसका जनता परिवार में विलय हुआ है.

यादव ने ईटी से बातचीत में कहा, ‘मैं विकल्प तलाश रहा हूं और फिलहाल मैं देखो और इंतजार करो की नीति पर आगे बढ़ रहा हूं. मांझी जी रैली कर रहे हैं और मैं उस रैली को मिल रही प्रतिक्रिया का आकलन करने में लगा हुआ हूं.’ दूसरी तरफ लालू के उत्तराधिकारी के संबंध में बेटे को चुनने की सफाई के पर यादव ने कहा, ‘क्या आपने दुनिया में किसी नेता को इस तरह कुछ थोपते हुए देखा है?’ उन्होंने कहा, ‘लोकतंत्र में लोग सबसे ऊपर हैं और जनता जिसे चुनेगी, वही सबसे ऊपर है और उसी के साथ में शक्ति होगी.’

बता दें कि चारा घोटाले में दोषी करार दिए जाने के बाद लालू प्रसाद के चुनाव लड़ने पर पाबंदी है और इस वजह से वह अपनी पार्टी में परिवार के सदस्यों और अपने बच्चे को आगे बढ़ाने में लगे हुए हैं. जीतन राम मांझी के सीएम पद छोड़ते समय पप्पू यादव जिस तरह अपने आप को पेश कर रहे थे, वह निश्चित तौर पर लालू प्रसाद को पसंद नहीं आया था.

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App