इस्लामाबादः पाकिस्तान में 25 जुलाई यानी आज होने जा रहे आम चुनाव को लेकर सभी राजनैतिक दलों की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं. इस बार पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N), इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) और बिलावल भुट्टो की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) के बीच सीधा मुकाबला माना जा रहा है. देश के प्रमुख राजनेताओं को चुनौती देने के लिए इस बार 1500 से ज्यादा प्रत्याशी ऐसे भी हैं, जिनका किसी आतंकी या फिर कट्टरपंथी संगठन से संबंध है.

मुंबई में हुए आतंकी हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद का बेटा हाफिज तल्हा सईद और दामाद हाफिज खालिद वलीद भी इस बार चुनावी मैदान में है. चुनाव से कुछ समय पहले पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने हाफिज सईद की पार्टी को मान्यता देने से इनकार कर दिया. जिसके बाद जमात-उद-दावा के कुल 260 उम्मीदवारों ने अल्ला-हू-अकबर नामक पार्टी से पंजीकरण कराया.

इसी तरह अन्य उम्मीदवार राहे-ए-हक, तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान और मुत्ताहिदा मजलिस-ए-अमल जैसे छोटे संगठनों से चुनाव मैदान में उतरे हैं. बता दें कि पाकिस्तान में नेशनल असेंबली की 272 सीटों और 4 प्रांतीय विधानसभाओं के लिए वोटिंग होती है. पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में कुल 342 सीटें हैं. 342 में से 272 सीटों पर सीधे चुनाव होते हैं. 60 सीटें महिलाओं के लिए तो 10 सीटें धार्मिक अल्पसंख्यकों के लिए आरक्षित होती हैं.

नेताओं के चुनाव लड़ने के बारे में बात करें तो नवाज शरीफ के भाई शहबाज शरीफ डेरा गाजी खान से चुनावी मैदान में उतरे हैं. पीटीआई अध्यक्ष इमरान खान 5 सीटों पर एक साथ चुनाव लड़ रहे हैं. तो वहीं बिलावल भुट्टो दो सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं. उनके पिता और पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के पति आसिफ अली जरदारी भी 1993 के बाद इस बार चुनावी मैदान में उतरे हैं. नवाज शरीफ के करीबियों में गिने जाने वाले चौधरी निसार अली खान भी निर्दलीय मैदान में उतरे हैं.

Pakistan Elections 2018: पाकिस्तान चुनाव में अब तक की सबसे बड़ी सैन्य तैनाती, 3.7 लाख सेना के जवानों के साये में आज वोटिंग

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर