इस्लामाबादः पाक चुनाव के दौरान शुक्रवार को पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) के चेयरमेन और पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के बेटे बिलावल भुट्टो ने कहा कि तानाशाही से बेहतर एक कमजोर लोकतंत्र होता है. अपने घर के बाहर मीडिया को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की समृद्धि और विकास के लिए उनकी पार्टी राजनीति करना जारी रखेगी. उन्होंने कहा कि कई लोग लोगों को तोड़ने की नकारात्मक राजनीति कर रहे हैं. यह उनकी पार्टी के लिए तो अच्छा है लेकिन उनके यह देश के लिए अच्छा नहीं है.

नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग और इमरान खान की पार्टी पीटीआई पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि इन दोनों ही पार्टियों ने प्रतिबंधित संगठनों से गठबंधन किया है और आतंक के मुद्दों पर दोनों ही पार्टियां भ्रम की स्थिति में हैं. जहां तक उनकी पार्टी पीपीपी का सवाल है तो वो आतंकवाद और अतिवाद के मुद्दे पर अपना रुख साफ रखती है.

उन्होंने कहा कि अतिवाद और लोकतंत्र के बीच एक रेखा खींच देनी चाहिए. भुट्टो ने कहा कि दूसरों के खिलाफ बोलते समय हमें अपनी सीमाओं में रहने की आवश्यकता है. बिलावल ने कहा कि इस चुनाव में लोगों ने उनकी पार्टी पीपीपी के नेतृत्व का गर्मजोशी से स्वागत किया है और कराची से लेकर खैबर तक सकारात्मक प्रतिक्रिया देखने को मिली है. अब चाहे हम जीतें या हारें लेकिन लोकतंत्र की यह यात्रा जारी रहेगी. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि हमें चुनाव अभियान चलाने से भी रोका गया लेकिन हम इस चुनाव को एक चुनौती के रूप में लड़ रहे हैं. उन्होंने ये भी कहा कि सिर्फ उनकी ही पार्टी देश में सही मायने में लोकतंत्र लाएगी और बेनजीर भुट्टो के सपनों को साकार करेगी.

Pakistan Elections 2018: मैं पहले एक पख्तून फिर पंजाबी, पेशावर को लाहौर बना दूंगा: शहबाज शरीफ

Pakistan Elections 2018: तहरीक-ए-पाकिस्तान प्रमुख इमरान खान और पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद अब्बासी पर जान का खतरा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर