इस्लामाबाद. इमरान खान का पाकिस्तान का नया प्रधानमंत्री बनना तय है. 25 जुलाई को हुए आम चुनावों में तहरीक-ए-इंसाफ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. रुझानों के बीच इमरान खान ने लोगों को संबोधित किया. उन्होंने भाषण में कई अहम पहलुओं पर बात की. इमरान ने कहा कि वह भारत के साथ बेहतर संबंध चाहते हैं और दोनों देशों के बीच व्यापार बढ़ाएंगे. भारतीय मीडिया पर तंज कसते हुए इमरान ने कहा कि उन्हें विलेन की तरह पेश किया गया और वह चाहते हैं कि कश्मीर मुद्दा बातचीत के जरिए सुलझाया जाए. इमरान ने कहा कि इस वक्त अर्थव्यवस्था चरमराई हुई है और युवाओं को नौकरियां देना उनकी प्राथमिकता है. पीटीआई अध्यक्ष ने कहा कि वह शपथ लेने के बाद प्रधानमंत्री आवास में नहीं बल्कि एक छोटे घर में रहेंगे. साथ ही सभी सरकारी इमारतों को होटल बनाया जाएगा. इमरान ने पड़ोसी देश चीन के साथ संबंधों में और सुधार लाने की बात भी कही.

लेकिन इमरान खान ने भारत के साथ बेहतर संबंध बनाने की जो बात कही है, वह सीधे तौर पर गले नहीं उतरती. चुनाव प्रचार में इमरान ने भारत के खिलाफ जमकर जहर उगला है. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रैलियों में जमकर कोसा और यहां तक कहा कि अगर युद्ध हुआ तो भारत को नुकसान ज्यादा उठाना होगा. इमरान ने कहा था, ”नवाज शरीफ भले ही नरेंद्र मोदी के साथ दोस्ती दिखाते हों, लेकिन भारत हमेशा से पाकिस्तान के खिलाफ रहा है, यही सच है. अगर मुझे सत्ता मिली तो मैं भारत को यह गलती दोहराने का मौका नहीं दूंगा”.

रुझान इमरान के पक्ष में जाने पर कई राजनीतिक जानकारों ने यहां तक कहा कि इमरान खान को पाकिस्तानी सेना का साथ मिला हुआ है, लिहाजा भारत के साथ बेहतर संबंधों की उम्मीद करने का कोई फायदा नहीं है. इमरान खान काफी समय पहले बलूचिस्तान में फैली अशांति के लिए भारत को जिम्मेदार ठहरा चुके हैं. उन्होंने कहा कि भारत इस प्रांत में कानून एवं व्यवस्था को बिगाड़ने पर तुला हुआ है. पूर्व पीएम नवाज शरीफ को देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए उन्होंने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री इस मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय मंच पर क्यों नहीं उठा रहे हैं.

इमरान खान ने भारतीय सेना के खिलाफ भी आपत्तिजनक ट्वीट किया था. उन्होंने ट्वीट में लिखा था कि कश्मीर में मारे जा रहे निर्दोष लोगों के साथ भारतीय सेना का सलूक माफी के लायक नहीं है. उन्होंने कहा था कि पीओके में मारे गए लोगों की हत्या के लिए भारतीय सेना जिम्मेदार है. भारत और पाकिस्तान के बीच भविष्य में संबंध कैसे रहते हैं, यह इसी पर निर्भर करेगा कि इमरान अपनी बात पर कायम रहते हैं या नहीं.

पाक चुनाव में इमरान खान की जीत पर सोशल मीडिया पर फनी रिएक्शन- पहला कानून हर आदमी के लिए चार निकाह जरूरी

पाकिस्तान चुनाव जीतकर इमरान खान भारत से बोले- कश्मीर अहम, रिश्ता सुधारें, व्यापार बढ़ाएं, इंडियन मीडिया ने विलेन बनाया

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App