लाहौर: पाकिस्तान चुनाव 2018 में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरने वाली पाकिस्तान तहरीके-ए-इंसाफ पार्टी (PTI) के मुखिया इमरान खान ने 22 साल बाद सफलता पा ली है. वोटों की गिनती में इमरान खान की पार्टी पीटीआई ने 119 सीटों पर जीत दर्ज कर पाकिस्तान में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. इमरान खान के करियर पर नजर डाले तो 25 नवंबर, 1952 को लाहौर के एक पश्तून परिवार में जन्में इमरान खान पिछले 22 सालों से राजनीति में हाथ आजमा रहे थे. इमरान खान 1971 से 1992 तक पाकिस्तान क्रिकेट टीम में रहे.

इमरान खान शुरुआती शिक्षा-दीक्षा लाहौर के एचिसन कॉलेज से हुई. इसके बाद साल 1975 में वे ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से फिलोसफी, पॉलिटिकल साइंस और इकोनॉमिक्स ग्रेजुएशन किया. इसके बाद इमरान खान का लगाव क्रिकेट की ओर बढ़ा और मात्र 18 साल की उम्र में 1971 में बर्मिंघम की इंग्लिश सीरीज में खेले लिए. इसके बाद पाकिस्तान टीम में उनकी जगह पक्की हो गई. साल 1992 में इमरान खान की कप्तानी में ही पाकिस्तान ने विश्व कप जीता था. टेस्ट क्रिकेट 3,807 रन बनाए और 362 विकेट लिए. इसके बाद उनको ऑल राउंडर ट्रिपल का तमगा मिला.

क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद इमरान खान राजनीति में उतरे और साल 1996 में पाकिस्तान तरहिक-ए-इंसाफ नामक पार्टी बनाई. 1997 के चुनाव में पीटीआई को करारी शिकस्त भी झेलनी पड़ी. साल 2002 में इमरान को पहली बार सफलता मिली और वे चुनाव जीतकर संसद पहुंचे. ये अपनी पार्टी के एकलौते सदस्य से थो जो कि चुनाव जीते. असली राजनीति की शुरुआत यहीं से होती है.

जब इमरान खान को जाना पड़ा जेल
तीन नवंबर 2007 को पाकिस्तान में इमरजेंसी के दौरान इमरान खान को नजरबंद भी किया गया था. लेकिन अगले दिन ही इमरान खान घर से भाग निकले. हालांकि इसके बाद पार्टी आगे बढ़ती चली गई. 14 नवंबर 2007 को छात्र आंदोलन में दिखाई दिए. इसके बाद जमात-ए-इस्लामी के छात्रों ने पकड़कर उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया था. जिसके बाद कई दिनों तक डेरा गाजी खान जेल में बंद रहे.

खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में सबसे बड़ी पार्टी बनी पीटीआई
2013 में वह एक बार फिर चुनाव जीतकर संसद पहुंचे. यह साल इमरान के लिए काफी लकी साबित हुआ. क्योंकि खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में उनकी पार्टी असेंबली चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी. और गठबंधन के सहारे सत्ता पर भी काबिज हुई. 2013 से अभी तक का दौर पाकिस्तान के लिए बड़ा ही उतार चढ़ाव वाला रहा है. प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को भ्रष्टाचार के मामले में संलिप्त होने के बाद उनको अपनी कुर्सी गंवानी पड़ी. इमरान खान ने पिछले आम चुनाव में नवाज शरीफ पर धांधली करने का आरोप भी लगाया था.

तीन शादियां कर चुके हैं इमरान खान
पाकिस्तान के होने वाले अगले प्रधानमंत्री इमरान खान अपनी शादियों को लेकर भी खूब चर्चा में रहे. इमरान खान ने साल 1995 में ब्रिटिश नागरिक जेमिमा गोल्डस्मिथ से पहली शादी रचाई. दोनों के बीच रिश्ता ज्यादा दिन तक नहीं चला और 2004 में तलाक हो गया. इसके बाद 2015 में इमरान खान ने टीवी एंकर रेहम खान से दूसरी शादी रचाई. लेकिन यह शादी भी ज्यादा दिन तक चल सकी और मात्र 10 महीने में दोनों के बीच तलाक हो गया. तीसरी शादी साल 2018 में बुशरा से की है.

चुनाव प्रचार में भारत को गिन-गिन कर गाली देने वाले इमरान खान जीतते ही बोले- इंडिया से दोस्ती और व्यापार बढ़ाएंगे

पाकिस्तान चुनाव ने मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद को दो कौड़ी का नहीं छोड़ा, पाक चुनाव में बेटा और दामाद हारे

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App