opinion

ओके जानू से भी पिछड़ने के कगार पर है सितारों से भरी रंगून

मुंबई: ये वाकई हैरतअंगेज है, विशाल भारद्वाज की फिल्मों का लोगों को काफी इंतजार रहता है और रिलीज से कई महीने पहले उनकी मूवीज के प्रोमो और गाने लोगों के बीच चर्चा का विषय बन जाते हैं. कभी करीना के चलते....Read More

वुलवरीन सीरीज देखते रहे हैं, तो लोगन को चूकिए मत

तीन तारीख को म्यूटेंट सीरीज की मूवी लोगन रिलीज हो रही है, और अगर आप इस मूवी सीरीज को सालों से देखते आ रहे हैं तो फिर इसे भी देखना बनता है कि क्योंकि ये इस हीरो की इस सीरीज....Read More

इस छात्र आंदोलन से चमके थे मोदी, 9 फरवरी थी अहम तारीख

बीस दिसम्बर 1973 की तारीख थी, मोरबी के एलडी इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों को जैसे ही पता चला कि हॉस्टल फूड फीस में 20 फीसदी की बढ़ोत्तरी कर दी गई है, वो भड़क उठे. उन्होंने गलत तरीके से की गई....Read More

कैसे-कैसे पलटती रही है शिवसेना की राजनीति…!

नई दिल्ली : उठाओ लुंगी, बजाओ पुंगी... शिवसेना का पहला नारा, जिसने एकदम से मराठी युवाओं को उस पार्टी की तरफ खींच लिया था. महाराष्ट्र के गठन के बाद जब बाल ठाकरे ने मुंबई में साउथ इंडियंस के खिलाफ मोर्चा....Read More

विशाल की उम्मीदों पर भारी पड़ेगी आजाद हिंद फौज की ऐतिहासिक तलवार….!

नई दिल्ली: रंगून देखकर आप बाहर निकलेंगे तो पहले बाकी लोगों के चेहरे देखेंगे कि आखिर आपको ही कन्फ्यूजन है, या फिर बाकियों को भी है? इसमें वो सब कुछ था जो विशाल की फिल्मों में होता है यानी म्यूजिक, सोंग्स,....Read More

गधागिरी में डूबा देश, आप भी डूबिए

एक दौर था जब देश गांधीगिरी में डूब गया था, लेकिन पिछले दो रोज से लग रहा है कि गधागिरी का दौर आ गया है. अखिलेश यादव, मोदी, अमित शाह, राहुल गांधी से लेकर अमिताभ बच्चन तक इस गधागिरी की....Read More

अगर रंगून देखने का मूड बना रहे हैं तो इसे जरूर पढ़ें

नई दिल्ली. बॉलीवुड का इतिहास से लगाव जगजाहिर है, और गाहे बगाहे कोई ना कोई डायरेक्टर साल दो साल में कोई ना कोई ऐतिहासिक विषय पर फिल्म लेकर आ ही जाता है. इस साल भी बाजीराव मस्तानी सुपरहिट हुई तो....Read More

शिवाजी का ये बघनख लंदन से कौन लाएगा ?

नई दिल्ली: बचपन से हर कोई पढ़ता आया है कि अफजल खान ने जब शिवाजी को मिलने के लिए बुलाया तो शिवाजी उससे मिलने पूरी तैयारी के साथ और जब अफजल ने धोखे से उनको मारने की कोशिश की तो....Read More

एक क्रांतिकारी, जिसके लिए संशोधित करने पड़े वंदेमातरम वाली किताब ‘आनंदमठ’ के 5 एडीशंस

नई दिल्ली: 1857 की लड़ाई को प्रथम स्वतंत्रता संग्राम कहा गया, वीर सावरकर ने इसको लेकर एक किताब लिखी और बताया कि ये कैसे भारतीय आजादी का पहला स्वतंत्रता संग्राम था. लेकिन फिर भी लोगों ने सवाल उठाए कि सैनिक सूअर....Read More

रोमांस, म्यूजिक और गानों के बिना भी आपको बांधे रखेगी भारत की पहली अंडरवॉटर वॉर मूवी ‘द गाजी अटैक’

अब तक भारत में डिफेंस स्टडीज के स्टूडेंट्स यही पढ़ते आए थे कि 1971 के युद्ध में बंगाल की खाड़ी में पानी में कुछ हलचल देखकर आईएनएस राजपूत ने कुछ गोले ऐसे ही दाग दिए और नतीजा हुआ एक बड़ा....Read More

authors

vishnu-sharma

Stories 88