opinion

India News Pulse: हे राम!

नई दिल्ली के बिड़ला हाउस में 30 जनवरी 1948 की मनहूस शाम 5 बजकर 10 मिनट पर 79 साल के एक बुजुर्ग महात्मा की तीन गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्या करने वाला श्रद्धालु बनकर भीड़ में खड़ा....Read More

Weekly Analysis Pulse: लोकतंत्र के लिए टॉनिक था इंदिरा का आपातकाल!

बुधवार की रात तमाम आशंकाओं के बीच विश्व की सबसे पुरानी लोकतांत्रिक धरती पर जो बाइडेन ने 46वें राष्ट्रपति और कमला देवी हैरिस ने उपराष्ट्रपति पद की शपथ ली। लगभग 200 साल पहले 1804 में वहां चुनाव कराकर एक नये....Read More

Weekly Analysis Pulse: हम ही फसल बोएंगे, काटेंगे और बेचेंगे, दलाल नहीं!

Weekly Analysis Pulse: हम न तो अदालत जाएंगे और न ही उनकी बनाई कमेटी से बात करेंगे। हमने जो सरकार चुनी है, यह उसका काम है। हम उसी से बात करेंगे और मांगें मनवाएंगे। अदालत से हमारी कोई लड़ाई नहीं....Read More

Weekly Analysis Pulse: खूबसूरत मंजिल के रास्ते भी सुखद होने चाहिए!

Weekly Analysis Pulse: देश, कैपिटल हिल या सेंट्रल विस्टा से खूबसूरत नहीं बनता है। देश खूबसूरत बनता है, जब वहां की आवाम सुखद और नैतिक जीवन जीती है। राजनेता वह महान होता है, जो मानवता को सर्वोपरि रखता है। वह....Read More

Weekly Analysis Pulse: घृणा की राजनीति में पिसता अन्नदाता!

Ajay Shukla Exclusive Column: विषाक्त माहौल में नववर्ष 2021 का आगाज हुआ है. दिल्ली सीमा पर देशवासियों के लिए अपनी ही सरकार से न्याय मांगने बैठे एक और किसान ने आज आत्महत्या कर ली. दिल्ली के इर्दगिर्द 40 दिनों से....Read More

Weekly Analysis Pulse: हठधर्मिता छोड़िये, यह आंदोलन नहीं यज्ञ है!

चंडीगढ़ में रेस्टोरेंट संचालन करने वाले एक मित्र मिले, बोले भाई साहब किसान आंदोलन में जा रहा हूं। हमें अचरज हुआ, वह तो किसान नहीं हैं। वह बोले, किसानों के लिए खाने-पीने का सामान देने जा रहा हूं। उनकी उपज से ही हमारा....Read More

एडिलेड की हार हो-हल्ला नहीं, सबक सीखने की ज़रूरत

मेरा शुरू से मानना रहा है कि एक टेस्ट मैच की हार पर कभी हो-हल्ला नहीं करना चाहिए। बल्कि इन ग़लतियों से सीखने की कोशिश करनी चाहिए। हारना किसे अच्छा लगता है लेकिन अपने खिलाड़ियों पर भरोसा रखिए। ये खिलाड़ी....Read More

Ajay Shukla Exclusive Column: जहर मत बीजिये, समाधान निकालिये!

Ajay Shukla Exclusive Column: संत बाबा राम सिंह ने गोली मारकर खुदकुशी कर ली। उन्होंने सुसाइड नोट में लिखा, ''किसानों का दुख देखा नहीं जा रहा है। अपने हक के लिए सड़कों पर किसानों को देखकर बहुत दिल दुख रहा है।....Read More

Ajay Shukla Exclusive Column: लोकतंत्र बचाने के लिए किसानों के साथ आइये

Ajay Shukla Exclusive Column: तुम से पहले वो जो इक शख्स यहां तख्त नशीं था, उस को भी अपने खुदा होने पे इतना ही यकीं था। पाकिस्तानी शायर हबीब जालिब का यह शेर आज भी उतना ही मौजूं है, जितना....Read More

Ajay Shukla Exclusive Column: चरित्र हनन की सियासत देश के लिए घातक!

Ajay Shukla Exclusive Column: केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों का जब पंजाब के किसानों ने विरोध शुरू किया, तो यह प्रचारित किया जाने लगा कि यह पाकिस्तान पोषित है. यह फैलाया गया कि विरोध करने वाले किसान खालिस्तान समर्थक....Read More

authors

Secured By miniOrange