कोलकाता. पश्चिम बंगाल के हावड़ा में जोमैटो डिलीवरी स्टाफ की हड़ताल और विरोध प्रदर्शन अभी भी जारी है. ये विरोध प्रदर्शन पिछले कुछ दिनों से चल रहा है. डिलीवरी स्टाफ द्वारा ये विरोध बीफ और पोर्क की डिलीवरी करवाए जाने के खिलाफ है. हालांकि कंपनी के संस्थापक दीपिंदर गोयल का कहना है कि इस विरोध का भोजन या धर्म या विश्वास के साथ कोई लेना-देना नहीं है. कंपनी के संस्थापक ने अपने कर्मचारियों को झूठे आक्रोश के खिलाफ एक चेतावनी ईमेल में ये कहा. जोमैटो के संस्थापक दीपिंदर गोयल ने कर्मचारियों को शोर को नजरअंदाज करने और विचलित ना होने का आग्रह करते हुए एक ईमेल में लिखा है, यह विरोध जो मुट्ठी भर डिलीवरी भागीदारों तक सीमित है, कोलकाता के हावड़ा क्षेत्र तक सीमित है और पूरे पश्चिम बंगाल में नहीं है.

बता दें कि हावड़ा में जोमाटो डिलीवरी श्रमिकों का एक समूह, कोलकाता के बाहर, एक सप्ताह से हड़ताल पर है और कहा है कि वे गोमांस (बीफ) या सूअर का मांस (पोर्क) नहीं देंगे. मौसिन अख्तर ने कहा, कंपनी हमारी मांगों को नहीं सुन रही है और हमें अपनी इच्छा के विरुद्ध गोमांस और सूअर का मांस देने के लिए मजबूर कर रही है. हिंदुओं को गोमांस पहुंचाने में समस्या है, जबकि मुसलमान सूअर का मांस नहीं देना चाहते हैं.

अपने ईमेल में, दीपिंदर गोयल ने कहा, आक्रोश एक ऐसी प्रणाली से जुड़ा है जिसमें ऑर्डर घनत्व बढ़ने पर डिलीवरी भागीदारों के लिए रेट कार्ड संशोधित किए जाते हैं. हमारे डिलीवरी पार्टनर रेट कार्ड में सुधार के बाद उतनी ही कमाई करते रहते हैं, और हमारी यूनिट इकोनॉमिक्स बेहतर होती जाती है, जिससे व्यापार और अधिक टिकाऊ होता है. इससे हमें और अधिक डिलीवरी पार्टनर्स के लिए रोजगार के अवसरों का विस्तार करने और जारी रखने की अनुमति मिलती है. कभी-कभार, कुछ मुट्ठी भर डिलीवरी सवारों को रेट कार्ड के सुधार की समझ नहीं होती है और वे बदलाव का विरोध करने लगते हैं.

उन्होंने कहा, हम यह जानते हैं क्योंकि हमने अपने ऑर्डर डेटाबेस में एक नजर डाली और उस पूरे क्षेत्र में पिछले तीन महीनों में पोर्क वाले किसी भी आइटम के लिए स्थानीय घरों से शून्य ऑर्डर थे. गोमांस युक्त एक ऑर्डर था लेकिन ग्राहक ने कैंसल कर दिया था. हावड़ा में इस मामले में, उनके स्थानीय जोमैटो के साथ रचनात्मक जुड़ाव के बजाय, इन सवारों ने एक स्थानीय राजनीतिज्ञ से संपर्क किया और जानबूझकर इस मुद्दे को गलत तरीके से फंसाया.

Zomato Food Delivery Staff Strike: जोमैटो फिर विवाद में, कोलकाता में बीफ और पोर्क डिलीवरी के खिलाफ स्टाफ हड़ताल पर

Zomato Row over Muslim Rider: मुस्लिम डिलिवरी बॉय से खाना लेने से किया मना तो जोमैटो ने कस्टमर को दिया करारा जवाब

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App