लखनऊ: अयोध्या में बुधवार को राम पूजन के लिए गए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से एक सवाल पूछा गया कि जैसे वो राम मंदिर के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम में आए हैं वैसे ही क्या वो मस्जिद के शिलान्यास कार्यक्रम में भी जाएंगे? इसके जवाब में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मुझे कोई बुलाएगा नहीं और मैं जाऊंगा भी नहीं. दरअसल योगी आदित्यनाथ से पूछा गया था कि विरोधी कह रहे हैं कि आपने सभी धर्मों के लोगों को राम मंदिर के भूमिपूजन में बुलाया और सभी आपके बुलावे पर आए भी, लेकिन आने वालों दिनों में जब अयोध्या में मस्जिद का निर्माण शुरू होगा, तो कहा जा रहा है कि कि सीएम योगी वहां नहीं जाएंगे.

इसके जवाब में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जो मेरा काम है वो मैं करूंगा और मैं अपने काम को अपना कर्तव्य और धर्म मानकर चलता हूं. उन्होंने आगे कहा कि मुझे कोई बुलाएगा नहीं. इसलिए मैं जाऊंगा भी नहीं. गौरतलब है कि राम मंदिर पर फैसला सुनाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड को 5 एकड़ भूमि दिए जाने का फैसला दिया था. कोर्ट के फैसले को मानते हुए यूपी सरकार ने 5 फरवरी को ही अयोध्या जिला मुख्यालय से 18 किलोमीटर दूर धन्नीपुर तहसील सोहावल में थाना रौनाही से लगभग 200 मीटर पीछे 5 एकड़ जमीन मस्जिद के लिए आवंटित की थी. इसलिए अब सवाल खड़ा हो रहा है कि क्या सीएम योगी आदित्यनाथ मस्जिद के शिलान्यास कार्यक्रम में भी जाएंगे.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रियंका गांधी के उस बयान पर भी प्रतिक्रिया दी जिसमें उन्होंने कहा था कि राम सबके हैं. योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राम सभी के हैं, हम पहले से ही कहते रहे हैं. ये सदबुद्धि पहले भी आनी चाहिए थी.

Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan: क्योंकि राम काज कीन्हे बिनु मोहि कहां विश्राम, सदियों का इंतजार आज समाप्त हो रहा है, यहां पढ़िए पीएम मोदी का पूरा भाषण

Ram Mandir Bhumi Pujan: कोरोना के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को न तिलक लगेगा ना बांधा जाएगा साफा, शंखनाद से होगा स्वागत

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर