Xiaomi Fears Anti China Sentiment: भारत में जनता के बीच चीन के खिलाफ बढ़ते गुस्से का असर देश में मौजूद चीन कंपनियों पर दिखने लगा है. सबसे ज्यादा डर भारतीय बाजार में अपना पैर जमा चुकी चीनी स्मार्टफोन कंपनियों पर दिख रहा है. मालूम हो कि देश में तेजी से बढ़ते एंटी चाइना सेंटिमेंट की वजह से चीनी उत्पादों का बहिष्कार किया जा रहा है. चूंकि भारत के स्मार्टफोन मार्केट पर चीनी कंपनियों का कब्जा है, इससिए उनपर इसका असर पड़ सकता है.

चीनी स्मार्टफोन मेकर Xiaomi भारत में नंबर-1 है. अब कंपनी ने ज्यादातर शहरों में डैमेज से बचने के लिए अपने स्टोर्स के आगे मेड इन इंडिया के लोगो लगाने शुरू कर दिए हैं. अब कंपनी अपने एक्स्क्लूसिव स्टोर्स में मेड इन इंडिया के पोस्टर्स लगा रही है. एक रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी ने अपने शॉप फ्लोर प्रोमोटर्स से शाओमी का यूनिफॉर्म न पहनने को कहा है.

दिल्ली-एनसीआर, मुंबई, चेन्नई, पटना, आगरा और पुणे जैसे शहरों के शाओमी स्टोर्स को मेड इन इंडिया लोगो से कवर कर दिया गया है. ऑल इंडिया मोबाइल रिटेलर्स एसोसिएशन (AIMRA) ने शाओमी, ओपो, वीवो, वन प्लस, रियलमी, लेनेवो-मोटो और हुआवे को लेटर लिखा है.

गौरतलब है कि कई जगह चीन के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं और चीनी प्रोडक्ट्स को बायकॉट करने की मांग की जा रही है. इस दौरान कई जगहों पर तोड़ फोड़ और तालाबंदी भी देखने को मिली है. इस लेटर में रीटेलर्स को एंटी चाइना सेंटिमेंट के दौरान फिजिकल डैमेज से बचाने के लिए कुछ महीने तक के लिए अपने ब्रांड लोगो को कवर करने के लिए कहा गया है.

PM Narendra Modi On Emergency: आपातकाल पर बोले PM मोदी- लोकतंत्र सेनानियों का बलिदान नहीं भूलेगा देश

Chinese Defense Ministry Blames India: चीनी रक्षा मंत्रालय ने भारत पर मढ़ा आरोप, गलवान घाटी में हुए संघर्ष का बताया जिम्मेदार