नई दिल्ली. विश्व तम्बाकू निषेध दिवस हर साल 31 मई को मनाया जाता है. इस दिन संस्थान जागरुकता अभियान चलाते हैं ताकि लोगों को तंबाकू के हानिकारक प्रभावों के बारे में जानकारी दे सकें और उन्हें तंबाकू छोड़ने के लिए प्रेरित कर सकें. तंबाकू किसी भी तरह से लेना हानिकारक होता है. तंबाकू चाहे स्मोकिंग के जरिए लिया जाए या सीधे तौर पर खाया जाए वो शरीर को नुकसान ही पहुंचाता है. ऐसे में जिन्हें तंबाकू और धूम्रपान के खतरों का एहसास हुआ है और वो इसे छोड़ना चाहते हैं उन्हें सपोर्ट करना चाहिए. हालांकि तंबाकू के रूप में नशे की लत छोड़ना एक आसान काम नहीं है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) और इसके वैश्विक साझेदार तंबाकू के उपयोग और किसी और द्वारा किए गए धूम्रपान के धुएं के जोखिम के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए हर साल 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाते हैं.

विश्व तंबाकू निषेध दिवस 2019 लोगों के स्वास्थ्य पर तंबाकू के प्रतिकूल प्रभाव पर ध्यान केंद्रित करेगा. धूम्रपान आपके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर कहर बरपाने ​​के अलावा फेफड़ों के कैंसर, लंबी सांस की बीमारी का कारण बन सकता है. डब्ल्यूएचओ धूम्रपान छोड़ने के कई तात्कालिक और दीर्घकालिक स्वास्थ्य लाभों को सूचीबद्ध करता है. एक बार जब किसी ने धूम्रपान छोड़ने का फैसला किया है तो वो ये फैसला कर सकता है कि इसे अचानक छोड़ना है या धीरे-धीरे. अमेरिकन कैंसर सोसाइटी का सुझाव है कि धूम्रपान करने वालों को उन कारणों को सूचीबद्ध करना चाहिए जिसके कारण वो छोड़ना चाहते हैं और किसी एक दिन को चुनकर उस दिन सभी छोड़ दें.

अमेरिकन कैंसर सोसाइटी का कहना है कि कारण चुनने के बाद धूम्रपान छोड़ने का दिन बहुत दूर नहीं चुनना चाहिए क्योंकि इसे मन बदलने का समय मिलता है. कारण सूचीबद्ध होते ही जल्द से जल्द छोड़ने के दिन को भी चुन लेना चाहिए. फिर भी, खुद को तैयार करने के लिए पर्याप्त समय देने की आवश्यकता है. व्यक्ति जन्मदिन या शादी की सालगिरह जैसे विशेष महत्व के साथ कोई तारीख चुन सकते हैं या अपनी इच्छा से कोई भी तारीख चुन सकते हैं. अपने कैलेंडर पर तारीख को सर्कल करें. उस दिन छोड़ने के लिए एक मजबूत, व्यक्तिगत प्रतिबद्धता बनाएं. आप अपने मित्रों और परिवार को अतिरिक्त प्रेरणा के लिए उस दिन के बारे में भी बता सकते हैं. एक बार वो दिन आने के बाद, अपने घर, कार और काम पर सभी सिगरेट और ऐशट्रे से छुटकारा पाएं.

तम्बाकू में निकोटीन होता है. निकोटीन अत्यधिक नशे की लत वाला तत्व है जो आपको सिगरेट के लिए तरसता है. तो छोड़ने की कोशिश करने के बाद भी वापसी के लक्षण हो सकते हैं. ऐसे में निकोटीन रिप्लेसमेंट थेरेपी काम में आ सकती है. आप गम, पैच, स्प्रे, इनहेलर या टॉफी को तंबाकू की जगह इस्तेमाल कर सकते हैं. अमेरिकन कैंसर सोसाइटी के अनुसार, एनआरटी कुछ शारीरिक लक्षणों को दूर करने में मदद कर सकता है ताकि आप तंबाकू छोड़ने के मनोवैज्ञानिक (भावनात्मक) पहलुओं पर ध्यान केंद्रित कर सकें. आप धूम्रपान-मुक्त रहने के लिए व्यवहारिक और सहायक उपचारों की तलाश कर सकते हैं.

Summer Skin Care Tips: धूल-धूप के नुकसान का बड़ा इलाज- गर्मियों में ये सात फेस पैक बदल देंगे आपकी रंगत

Candida Auris Fungus in India: भारत तक पहुंचा खतरनाक कैंडिडा ऑरिस फंगस, 90 दिनों में हो जाती है मरीज की मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App