नई दिल्ली : New Delhi

हर साल 10 जनवरी को विश्व हिन्दी दिवस World Hindi Day के रूप में मनाया जाता है. इस दिन को मनाने का मकसद दुनिया भर में हिन्दी भाषा का प्रचार-प्रसार और इसके प्रति जागरूकता फैलाना है. इस अवसर पर दुनियाभर में निबंध प्रतियोगिताओं समेत कई प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं.

साल 1975 में मौजूदा प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन World Hindi Conference  का उद्घाटन किया था. उसके बाद से भारत, यूनाइटेड किंगडम, म़ॉरीशस, त्रिनिदाद और टोबैगो, अमेरिका जैसे कई देशों में हिन्दी सम्मेलनों का आयोजन किया गया. 10 जनवरी सन् 2006 को पहली बार विश्व हिन्दी दिवस World Hindi Day मनाया गया. उसके बाद से हर साल विश्व हिन्दी दिवस मनाया जाने लगा.

राष्ट्रीय और विश्व हिन्दी दिवस में अन्तर

राष्ट्रीय और विश्व हिन्दी दिवस को लेकर लोगों में बहुत असमंजस होता है. कुल मिलाकर दोनों का ही उद्देश्य हिन्दी का प्रचार प्रसार करना है. बस दोनों में अन्तर अन्तर इतना सा है कि राष्ट्रीय हिन्दी दिवस 14 सितंबर को तो विश्व हिन्दी दिवस 10 जनवरी को मनाया जाता है.

गौरतलब है, कि आजादी के बाद भाषा को लेकर बड़ा विवाद था, और सवाल ये था कि भारत जैसे विविध और बहु-आयामी देश में कई प्रकार की बोलियां और भाषाएं प्रयोग की जाती हैं. इसके बाद काफी सोच विचार के बाद हिन्दी और अंग्रेजी को नए राष्ट्र की भाषा चुना गया. यही नहीं संविधान सभा ने भी 14 सितंबर सन् 1949 को एक मत से हिन्दी को भारत की राजभाषा चुना था. पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 के दिन मनाया गया.

यह भी पढ़ें 

Watch : शादी के बाद किचन का काम करती दिखी कैटरिना कैफ, वीडियो हो रहा जमकर वायरल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर