गुजरात: हाल ही में GAP group का धोलेरा SIR में बड़ा निवेश करने का समाचार सुर्ख़ियों में रहा. GAP group ने अपने पारदर्शक कार्य व गुणवत्ता से कम समय में ही गुजरात में अपना अग्रणी स्थान बना लिया है. Dholera SIR का नाम आते ही GAP Group का नाम सहज ही ध्यान में आता है, यह इस समूह का धोलेरा प्रोजेक्ट के प्रति समर्पण व उनके द्वारा आरम्भ किये रेजिडेंशियल, इंडस्ट्रियल व कमर्शियल प्रोजेक्ट्स की विशाल रेंज है। 

GAP समूह कई नए प्रोजेक्ट्स जो SIR के एक्टिवेशन जोन में आते हैं लांच कर रहा है.

आइये जानते हैं कैसे सूरत स्थित इस समूह ने PM मोदी के इस सपने को अपना सपना बना लिया व रात -दिन उसे साकार करने में जुट गए। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मुख्यमंत्री काल में गुजरात और गुजरात के साहसी उद्यमियों को सदैव ही नयी नयी योजनाओं का आयोजन कर अचंभित किया। उनके समय में गुजरात में कई नए प्रोजेक्ट आरम्भ हुए, मोदीजी ने युवाओं में नयी आशाओं का संचार किया। गुजरात में उनके समय में कई बड़े प्रोजेक्ट आये, देश के प्रतिष्ठित टाटा ग्रुप का नैनो प्रोजेक्ट स्थानीय राजकीय कारणों के चलते बंगाल से शिफ्ट होकर नरेंद्र मोदी के प्रयासों ने गुजरात आया। केवल एक ही दिन में नरेंद्र भाई मोदी ने प्रोजेक्ट की मंजूरी देते हुए जगह भी दे दी और जिस तरीके से इस विषय को उन्होंने दिशा दी उसके चलते भारत और मल्टीनेशनल कंपनियों के लिए गुजरात निवेश करने के लिए प्राथमिकता का राज्य बना। विश्व कक्षा की कंपनियों को गुजरात में लाने के लिए विश्वस्तरीय शहर भी हो उसे ध्यान में रखते हुए तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र भाई मोदी ने गुजरात के अहमदाबाद जिले में खंभात के आकार के पास अपने विजन के अनुसार भारत का सबसे हाईटेक और सबसे बड़ा ग्रीनफील्ड स्मार्ट सिटी यानी कि धोलेरा SIR बनाने का प्रोजेक्ट प्रारम्भ किया। 

“बस उनकी नया शहर बसाने की प्रेरणा ही GAP ग्रुप की स्थापना का आधार बनी। इस प्रोजेक्ट के साथ साथ GAP का भी विकास हुआ और आज गर्व है कि GAP Group, Dholera SIR का पर्याय बन चूका है.” अंबरीष पराजिया बताते हैं।

गुजरात सरकार ने Dholera Special Investment Region Act को मंजूरी दी और विश्वस्तरीय शहर का प्लान बनाने के लिए यूरोप की HELCRO कंपनी को मास्टर प्लान का काम सौंपा। 2011 के वाइब्रेंट गुजरात के इस मॉडल को पूरे विश्व के सामने रखा गया। भारत और पूरे विश्व में बसे भारतीयों द्वारा इस मॉडल को भरपूर समर्थन मिला। Greenfield industrial Smart city का मॉडल पहली बार गुजरात ही नहीं सारे भारत ने पहली बार देखा। 2009 से लेकर 2014 तक धोलेरा SIR की रुपरेखा व टाउन प्लानिंग का कार्य चला. 22 गावों का 920 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र को इकट्ठा कर उनका मास्टर प्लान तैयार करना कोई सहज कार्य नहीं था. 920 वर्ग किलोमीटर की ड्राफ्टिंग तैयार हुई और बाकी सारे क्लीयरेंस क्या काम पूर्ण रिकॉर्ड समय में पूरा हुआ।

“देश के सबसे महत्व के प्रोजेक्ट धोलेरा स्मार्ट सिटी में कार्य करने की GAP गृप को प्रेरणा मिली। तब से लेकर आज कंपनी उस विजन को साथ लेते हुए आगे बढ़ रही है एवं DHOLERA SIR के सबसे विश्वसनीय डेवलपर के रूप में कंम्पनी की शाख बनी है.” गोपाल गोस्वामी, GAP Group के निदेशक बताते हैं। 

  • 2014 में सबसे पहले टाउन प्लैनिंग रीजन, रेजिडेंशियल जोन में GAP गृप ने सबसे पहले प्रोजेक्ट लांच किया ।
  • 2018 में एक्टिवेशन जोन में फाइनल प्लॉट का पजेसन लेकर SIR के भीतर सबसे पहला रेजिडेंशियल प्रोजेक्ट लांच किया ।
  • RERA लागू होने के साथ 2020 में धोलेरा SIR में सबसे पहले RERA approved प्रोजेक्ट GAP ग्रुप ने ही लांच किये ।
  • GAP ग्रुप ने DholeraSIR का पहला प्राइवेट इंडस्ट्रियल पार्क लांच किया है ।
  • जल्दी ही GAP ग्रुप रेजिडेंशियल के अलावा इंडस्ट्रियल, फाइव स्टार होटल, व कमर्शियल प्रोजेक्ट भी लांच करने जा रहा है।

आने वाले समय में GAP Group अपनी पहचान Dholera के लिए वैसे ही चाहता है जो गुरुग्राम के लिए डीएलएफ है ।

Dandi March Anniversary: साबरमती आश्रम से पीएम नरेंद्र मोदी ने सांकेतिक दांडी यात्रा को दिखाई हरी झंडी, कहा- ये एतिहासिक पल है

Unnatural Sex Uttar Pradesh :पति पत्नी के साथ करता था अप्राकृतिक तरीके से सेक्स, पत्नी पहुंची थाने

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर