लखनऊ. स्वतंत्र देव सिंह उत्तर प्रदेश के बीजेपी अध्यक्ष बन गए हैं. भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को स्वतंत्र देव सिंह को यूपी बीजेपी का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है. स्वतंत्र देव सिंह वर्तमान में यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार में मंत्री हैं. उनके पास परिवहन विभाग का स्वतंत्र प्रभार है, साथ ही वे यूपी सरकार में ऊर्जा राज्य मंत्री भी हैं. स्वतंत्र देव सिंह ओबीसी कैटगरी से आते हैं और कुर्मी समाज से ताल्लुक रखते हैं.

आपको बता दें कि हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में तत्कालीन बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय ने उत्तर प्रदेश की चंदौली लोकसभा सीट से जीत दर्ज की थी. इसके बाद उन्हें नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में केंद्रीय मंत्रिपरिषद में शामिल कर लिया गया. इसके बाद यूपी बीजेपी अध्यक्ष का पद खाली हो गया. अब पार्टी ने यूपी बीजेपी अध्यक्ष के पद पर स्वतंत्र देव सिंह को नियुक्त किया है.

कौन हैं स्वतंत्र देव सिंह?

स्वतंत्र देव सिंह बीजेपी के खाटी नेता माने जाते हैं. वे कुर्मी समाज से आते हैं और ओबीसी वर्ग के बड़े नेता हैं. उत्तर प्रदेश में साल 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिली जीत के बाद मुख्यमंत्री पद की रेस में इनका नाम भी था. स्वतंत्र देव सिंह ने विधानसभा चुनाव के दौरान यूपी में पार्टी की कई सफल रैलियां आयोजित करवाई थीं. इस साल हुए लोकसभा चुनाव में भी उन्हें मध्य प्रदेश जैसे बड़े राज्य का प्रभारी बनाया गया था. उनके निर्देशन में बीजेपी ने एमपी की 29 में से 28 लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज की थी. 

स्वतंत्र देव सिंह फिलहाल यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार में परिवहन मंत्री हैं और पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के करीबी माने जाते हैं. स्वतंत्र देव सिंह ने भारतीय जनता पार्टी में कार्यकर्ता से लेकर संगठन के कई पदों पर काम किया. उनकी नेतृत्व क्षमता से अमित शाह काफी प्रभावित हुए. 

स्वतंत्र देव सिंह का पत्रकार से लेकर राजनेता तक का सफर-

अपने करियर के शुरुआती दौर में स्वतंत्र देव सिंह एक पत्रकार थे. इसके अलावा वे छात्र जीवन में एबीवीपी से जुड़ गए. छात्र राजनीति के दौरान स्वतंत्र भारत अखबार में बतौर रिपोर्टर काम करते थे. स्वतंत्र देव सिंह का पालन-पोषण के एक गरीब परिवार में हुआ. छात्र राजनीति के बाद वे पत्रकारिता छोड़कर सक्रिय राजनीति से जुड़ गए. 

स्वतंत्र देव सिंह मूलतः उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर के रहने वाले हैं और बुंदेलखंड क्षेत्र का झांसी उनकी कर्मस्थली रहा है. 2012 में उन्होंने उरई जिले की कालपी विधानसभा सीट से विधायकी का चुनाव लड़ा लेकिन उनकी जमानत तक जब्त हो गई.

हालांकि लोकसभा चुनाव 2014 में उन्होंने पार्टी संगठन में कई बेहतरीन काम किए. उन्होंने बुंदेलखंड में बीजेपी की पकड़ मजबूत की, जिसकी बदौलत बीजेपी को यूपी को बड़ी जीत मिली. यहीं से वे पीएम मोदी और अमित शाह की नजर में आ गए. 

Richa Bharti Court Quran Distribution Punishment: फेसबुक पर भड़काऊ पोस्ट लिखने वाली ऋचा भारती को कुरान की पांच प्रतियां बांटने की सजा, सोशल मीडिया पर भड़के लोग

SP Rajya Sabha MP Neeraj Shekhar Resigns: पूर्व पीएम चंद्रशेखर के बेटे और सपा सांसद नीरज शेखर का समाजवादी पार्टी और राज्यसभा से इस्तीफा, बीजेपी में हो सकते हैं शामिल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App