नई दिल्ली, कोरोना की वजह से हुई मौतों को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने एक रिपोर्ट जारी की है, जिसके मुताबिक भारत में कोरोना की वजह से 47 लाख से ज्यादा लोग अपनी जान गँवा चुके हैं. वहीं भारत का जो आधिकारिक आंकड़ा है, वो लगभग 5-6 लाख है. ऐसे में भारत सरकार ने विश्व स्वास्थ्य संगठन की इस रिपोर्ट का खंडन किया है.

भारत सरकार ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकडों पर उठाए सवाल

भारत सरकार ने विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी आंकड़ों पर सवाल उठा दिए हैं. भारत सरकार के मुताबिक, जिस तकनीक या मॉडल के जरिए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने ये आंकड़े इकट्ठा किए हैं, वो ठीक नहीं है. इसपर भारत सरकार द्वारा जारी बयान में कहा गया कि भारत की आपत्तियों के बावजूद भी विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पुरानी तकनीक और मॉडल के जरिए मौत के आंकड़े जारी किए हैं, विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा भारत की चिंताओं पर सही तरीके से गौर नहीं किया गया.

सरकार ने इस बात पर भी जोर दिया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जो आंकड़े जारी किए गए हैं वो सिर्फ 17 राज्यों के हैं. केंद्र के मुताबिक विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अब तक ये जारी नहीं किया है ये 17 राज्य कौन से हैं, और WHO ने ये भी नहीं बताया है कि ये आंकड़ें कब इकट्ठे किए गए. इसके अलावा सरकार ने इस बात पर भी आपत्ति दर्ज करवाई कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मैथमेटिकल मॉडल का इस्तेमाल कर आंकड़े जुटाए, जबकि भारत ने हाली ही में विश्वनीय CSR रिपोर्ट जारी की थी.

दिल्ली में घटे कोरोना मामेले

राजधानी दिल्ली में 24 घंटे में कोरोना के 1365 नए केस सामने आए हैं. राहत की बात ये है कि 24 घंटों में राजधानी में कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई है. साथ ही, कोरोना पॉजिटिविटी रेट में भी कमी आई है.

 

करनाल आतंकी: चारों आतंकियों का हुआ खुलासा, आतंकी संगठन बब्बर खालसा इंटरनेशनल से जुड़े हैं तार

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर