पटना. राष्ट्रीय जनता दल, राजद के नेता तेजस्वी यादव जो बिहार में मुख्य विपक्षी नेता हैं हाल ही में लोकसभा चुनाव 2019 में हारने के बाद से ही लगभग गायब हैं. दरअसल बहुत समय से तेजस्वी यादव मीडिया के सामने नहीं आए हैं. उन्होंने दोबारा नरेंद्र मोदी सरकार बनने के बाद कई बड़े मुद्दों पर अपनी प्रतिक्रिया नहीं दी है. हाल ही में बिहार में 100 से ज्यादा बच्चों की चमकी बुखार के कारण मौत हो गई. इस पर भी तेजस्वी यादव की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. ऐसे में सवाल खड़े हो गए हैं कि तेजस्वी यादव कहां हैं? इस बारे में सवाल राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह से भी किया गया. रघुवंश प्रसाद सिंह तेजस्वी यादव के पिता और राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के बेहद करीबी माने जाते हैं. उन्होंने तेजस्वी के कहां होने के सवाल पर कहा कि मुझे नहीं पता वो कहां है, शायद वो वर्ल्ड कप देखने गया है. मैं पक्का नहीं कह सकता. इसी के बाद चर्चाएं शुरू हो गई हैं कि क्या सच में तेजस्वी यादव वर्ल्ड कप मैच देखने के लिए इंग्लैंड गए हुए हैं.

हो सकता है कि क्रिकेट के विश्व कप के लिए तेजस्वी इंग्लैंड चले गए हों, लेकिन उनका राज्य पिछले कुछ दिनों से गंभीर स्वास्थ्य संकट से जूझ रहा है. एन्सेफलाइटिस के कारण राज्य में 100 से अधिक बच्चों की मौत हो चुकी है. बिहार के मुजफ्फरपुर में तीव्र इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) के कारण कम से कम 112 बच्चों की मौत हो गई है और एक अस्पताल में 300 से अधिक बच्चों को भर्ती कराया गया है. अपने राज्य में बड़े पैमाने पर इंसेफेलाइटिस से हुई मौतों पर बिहार के विपक्ष नेता तेजस्वी यादव की अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है. नीतीश कुमार सरकार के मुखर आलोचक रहे तेजस्वी ने इंसेफेलाइटिस संकट पर अपनी चुप्पी साधी हुई है और जैसे आंखें मूंद ली हैं. तेजस्वी कहां इस पर अभी भी कोई स्पष्ट जानकारी नहीं है.

पहले कहा जा रहा था कि तेजस्वी संपत्ति विवाद मामले में सुनवाई के लिए शायद दिल्ली में हैं. हालांकि इस पर भी कोई स्पष्टीकरण जारी नहीं किया गया है. बिहार हाल के दिनों में सबसे खराब स्वास्थ्य संकटों में से एक से गुजर रहा है. बिहार के सीएम नीतीश कुमार को मंगलवार को इंसेफेलाइटिस से पीड़ित बच्चों के परिवारों के गुस्से और विरोध का सामना करना पड़ा. नीतीश कुमार मुजफ्फरपुर के श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के दौरे पर गए थे. वहां 300 बच्चों को भर्ती कराया गया है.

गुस्साए लोगों ने मंगलवार को नीतीश कुमार के खिलाफ नारे लगाए. लोगों ने नीतीश कुमार मुर्दाबाद और नीतीश कुमार वापस जाओ के नारे लगाए. नीतीश कुमार जो शनिवार से नई दिल्ली में थे सोमवार शाम को पटना लौट आए थे और अधिकारियों के साथ एईएस की स्थिति पर एक आपातकालीन समीक्षा बैठक की.

Open Letter To Bihar CM Nitish Kumar: बिहार में हीरो से नीरो बन गए हैं नीतीश कुमार, बच्चों की मौत के शतक के बाद मुजफ्फरपुर पहुंचे नीतीश कुमार के नाम खुला खत

Encephalitis AES in Muzaffarpur Bihar Death Toll Latest updates: बिहार में इंसेफलाइटिस चमकी बुखार से हो रही बच्चों की मौत पर सुप्रीम कोर्ट में दायर जनहित याचिका पर सोमवार को सुनवाई, सिर्फ मुजफ्फरपुर में अब तक 112 बच्चों की मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App