नई दिल्लीः देश में फेक न्यूज और अफवाहों के चलते हुई मॉब लिंचिंग की घटनाओं के बाद केंद्र सरकार ने सख्त रुख अपनाया है जिसके बाद वाट्सएप ने अपने नए फीचर की टेस्टिंग शुरु कर दी है. इस मामले में शुक्रवार को वॉट्सएस ने एक ब्लॉग पोस्ट के जरिए इस बात को बताया कि उसका नया फीचर आने के बाद से यूजर किसी भी मैसेज, फोटो या वीडियो का एक बार में सिर्फ पांच लोगों या पांच ग्रुप में भी फॉरवर्ड कर सकेगा. इसके अलावा वॉट्सएप से फॉरवर्ड बटन को हटाने पर भी विचार किया जा रहा है. वर्तमान में वॉट्सएप मैसेज फॉरवर्ड करने की संख्या पर किसी तरह की रोक नहीं है.

वॉट्सएप अपने नए फीचर की टेस्टिंग कर रहा है जिसका इस्तेमाल साल के अंत में होने वाले चार राज्यों राजस्थान, मध्य प्रदेश, मिजोरम और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनावों में होगा. वॉट्सएप के इस नए फीचर का नाम हो है Verificado ये टूल फेक न्यूज वेरिफिकेशन टूल है. अगर ये चार राज्यों के चुनावों में सफल रहता है तो इसको 2019 के लोकसभा चुनावों में इस्तेमाल किया जाएगा.

वॉट्सएप के इस फेक न्यूज वेरिफिकेशन टूल को इस टेस्टिंग से पहले मैक्सिको में हुए आम चुनावों में इस्तेमाल किया जा चुका है. इस टूल की खास बात है कि इसमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) टेक्नोलॉजी से भेजे जाने वाले मैसेज को स्कैन करता है और उसमें दी गई जानकारी की सत्यता को जांचता है. जिसके बाद अगर इस टूल को मैसेज में दिए गए तथ्यों में गलती मिलती है तो वो उसे फिल्टर कर प्लेटफॉर्म से हटा देगा.

बता दें कि भारत वॉट्सएफ के बढ़ते प्रयोग के चलते इसके यूजर्स की संख्या 200 मिलियन से ज्यादा हो चुकी है. पिछले काफी समय से देश के अलग-अलग राज्यों में फेक न्यूज और अफवाहों के चलते कई निर्दोष लोगों की हत्या और पिटाई के मामले सामने आने के बाद वॉट्सएप की तरफ से प्रमुख अखबारों में फेक न्यूज और अफवाहों से लोगों को सतर्क करने के लिए एक विज्ञापन भी जारी किया था. इसके अलावा वॉट्सएप आने वाले कई दिनों तक आम जनता की सुरक्षा के लिए कई तरह के कैंपेन भी चलाने वाला है.

 

गो-तस्करी के शक में भीड़ ने राजस्थान के अलवर में हरियाणा के अकबर खान को पीट-पीटकर मार डाला

अपने बच्चे से मिल रहे पिता को भीड़ ने समझ लिया बच्चा चोर और जमकर कर दी पिटाई

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App