नई दिल्ली. इस साल 27 अक्टूबर को देशभर में दीपावली मनाई जाएगी. इस दिन लोग मां लक्ष्मी की पूजा करते हैं और अपने घर में दीप जलाते हैं. दीपावली को इसलिए दीपों का पर्व भी कहा जाता है. इस दिन लोग आतिशबाजी का भी आंनद लेते हैं. इस बार दिवाली पर सुप्रीम कोर्ट ने दिवाली पर पटाखे फोड़ने की अनुमती तो दे दी है, लेकिन साथ में पर्यावरण में बढ़ते पीएम 10 की मात्रा को ध्यान में रखते हुए कुछ बंदिशे भी लगा दी है. सुप्रीम कोर्ट ने दीपावली के दिन कम अवाज और कम प्रदूषण फैलाने वाले पटाखे ही फोड़ने की अनुमती दी है, जिनको बनाने में कम मात्रा में केमिकल का प्रयोग किया गया हो. सुप्रीम कोर्ट ने वायु में बढ़ते प्रदूषण की मात्रा पीएम 10 को देखते हुए दिवाली पर ग्रीन पटाखे जलाने की तोहफा तो दे दिया है. लेकिन लोगों को ग्रीन पटाखे असानी से नहीं मिल पा रहा है क्योंकि इस तरह की पटाखे बहुत मात्रा में बाजार में उपलब्ध नहीं है.

दीपावली के दिन ग्रीन पटाखें जलाने से वायु प्रदूषण में 35 प्रतिशत की कमी आती है-  एक रिपोर्ट में पता चला है कि सीएसआईआर के ग्रीन पटाखे जलाने पर खतरनाक सल्फर डाइऑक्साइड और नाइट्रस ऑक्साइड के छोटे-छोटे कणों के उत्सर्जन में कमी आती है. इसलिए हमें पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए ग्रीन पटाखे ही फोड़ने चाहिए. समस्या ये भी है कि बाजार में ग्रीन पटाखें काफी मुश्किल से मिल रहे हैं.

ग्रीन दीपावली के क्या मतलब होता है– इस दिन बिना पर्यावरण को नुकसान पहुंचाए दिवाली का त्योहार मनाना. इकों फ्रेंडली दीपावली के संदर्भ में लोगों से कहा जाता है कि आप दीपावली मनाए लेकिन इस दौरान पर्यावरण को किसी भी प्रकार की नुकसान ना हो. पटाखे जलाने के अलावें हम ऐसे कई काम करते हैं इस दिन जिससे पर्यावरण को काफी नुकसान होता है. इसका सीधा प्रभाव हमारे स्वास्थ पड़ पड़ता है और आस-पास के वायु में पीएम 10 की मात्रा बढ़ जाती है, जिससे लोगों को सांस लेने में परेशानी होने लगता है. और भी कई तरह के बिमारियों के चपेट में लोग आ जाते हैं. इसलिए दीपावली के दिन हमें इको फ्रेंडली पटाखे जलाने चाहिए जिससे पर्यावरण को कम नुकसान पहुंचे. इकों फ्रेंडली दिवाली को ग्रीन दिवाली भी कहते हैं.

Also Read, ये भी पढ़े- How To Celebrate Eco Friendly Green Diwali: दिवाली पर प्रदूषण के पाप के भागी न बनें, इन 10 उपायों से अपनी दीपावली को बनाएं ग्रीन, इको फ्रेंडली और पॉल्युशन फ्री

Supreme Court Delhi Diwali Crackers Ban: सुप्रीम कोर्ट दिवाली गाइडलाइंस, दिल्ली में सरकारी स्टांप QR कोड वाले अनार, फूलझड़ी के अलावा शोर मचाने वाले बम-पटाखे बैन

लोगों को कैसे करें ग्रीन दिवाली मनाने के लिए प्रेरित – लोगों को पर्यावरण प्रदूषण के बारे में बताएं और समझाएं कि यह हमारे लिए कितना खतरनाक है. वायु में बढ़ते प्रदूषण का स्वास्थ्य पर प्रभाव के बारे में बताएं. दीपावली के दिन लोगोें को ग्रीन पटाखों के उपयोग के लिए प्रेरित करें. इस दिन मिलावटी वस्तुओं के नुकसान बताएं और उनको खरीदने से बचें. दिवाली पर पटाखों तथा अत्यधिक शोर के कारण जानवरों तथा पक्षियों पर पड़ने वाले बुरे प्रभावों के बारे में बताएं. लोगों को पर्यावरण तथा पृथ्वी के वायुमंडल के प्रति जागरूक बनाएं और समझाएं कि ग्रीन पटाखें  हमारे लिए कितना महत्वपूर्ण है.

Also Read, ये भी पढ़े- Delhi NCR Air Quality Index 19 October 2019 : दिल्ली और एनसीआर की आबोहवा हुई खराब, दिल्ली में प्रदूषण के मार से लोगों का रहना हुआ दूभर

Happy Diwali Emojis Code 2019: दीपावली पर भेजे दोस्तों और रिश्तेदारों को ये शानदार इमोजी, करें दीवाली विश

Horoscope Today Sunday 27 October 2019 in Hindi: दिवाली 2019 पर क्या कहते हैं आपके सितारे, मिलेगा बंपर धन लाभ या होगा बड़ा नुकसान

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App