कोलकाता: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को पार्टी की रैली में शामिल होने के लिए पश्चिम बंगल पहुंचे. रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि बीजेपी इस बात की परिचायक है कि बंगाल के अंदर परिवर्तन होने वाला है. बीजेपी अध्यक्ष ने अपने भाषण में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर भी तीखे वार किए. अमित शान ने कहा कि ममता जी सुन लो हमारी आवाज़ बंद करने से यहां रुकेगी नहीं, मैं पूरे बंगाल के हर जिले में आंदोलन लेकर जाउंगा.

तृणमूल के लोग भ्रान्ति फैला रहे है कि NRC के तहत शरणार्थी भी चले जायेंगे लेकिन मैं आप लोगों को आश्वस्त कर दू कि पश्चिम बंगाल में जितने शरणार्थी है उनको वापस भेजने का कोई कार्यक्रम नहीं है. शरणार्थियों को रखना ये भारत सरकार कि जिम्मेदारी है. जिस प्रकार से ममता के शासन में घुसपैठ नहीं रोका गया तो पश्चिम बंगाल सलामत नहीं है और उसी घुसपैठ रोकने का आसान तरीका NRC है. उन्होंने कहा कि यहां के लोग इस बात के गवाह है कि वह यहा की मौजूदा सरकार से उब चुके हैं.

यहां की जनता बांग्लादेशी घुसपैठियों को कतई बर्दाश्त नहीं करेगी. अमित शाह कहा कि आखिरी हम बंगाल विरोधी कैसे हो सकते हैं.अमित शाह ने पश्चिम बंगला की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से सवाल करते हुए कहा कि मैं पूछना चाहता हूं कि वह बांग्लादेशी घुसपैठियों की रक्षा क्यों कर रही हैं? इसके साथ बीजेपी अध्यक्ष ने कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि वो इस मुद्दे पर अपना रुख स्पष्ट नहीं कर रहे हैं क्यो? क्या यह कांग्रेस की वोट बैंक की राजनीति की वजह से है.

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिखाए काले झंडे
रैली को संबोधित करने के लिए पश्चिन बंगाल पहुंचे अमित शाह को विरोध का सामना भी करना पड़ा. जैसी ही एनएससी बोस इंटरनेशनल एयरपोर्ट से बाहर निकले वहां मौजूद यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उन्हें काले झंडे दिखाते हुए भाजपा विरोधी नारे लगाने लगे. हालांकि बिना की अड़चन के अमित शाह वहां से रैली स्थल के लिए रवाना हो गए.

आज कोलकाता में अमित शाह की रैली, सड़कों पर लगे पोस्टर- ‘Anti Bengal BJP Go Back’

कांग्रेस नेता बीके हरिप्रसाद पर तंज में बिके बोलने वाली पीएम नरेंद्र मोदी की लाइन राज्यसभा कार्यवाही से डिलीट