केरल. Heavy rain पिछले कई दिनों से देश के विभिन्न राज्यों में भारी बारिश हो रही है. बादल कहर बनकर बरस रहे हैं. इस भारी बारिश से कई इलाके जलमग्न हो गए हैं. ऐसे में केरल सबसे ज़्यादा बारिश से प्रभावित है, भारी बारिश के चलते केरल में बाढ़ जैसी स्थिति आ गई है. इसी क्रम में उत्तराखंड समेत दिल्ली, मध्य प्रदेश और पूरे उत्तर भारत में बारिश का दौर शुरू हो गया है.

केरल में 10 बांधों के लिए रेड अलर्ट जारी

केरल में लगातार हो रही बारिश के चलते नदियों, जलाशयों और तालाबों में जलस्तर बढ़ गया है, जिस कारण 10 बांधों के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है. खतरे को देखते हुए काकी डैम के दो शटर को खोल दिया गया है. राज्य सरकार ने बारिश और भूस्खलन से हुई तबाही के कारण सबरीमाला में भगवान अयप्पा मंदिर को फिलहाल बंद रखने का निर्णय लिया है.

सरकार ने काफी डैम खोलें – राजस्व मंत्री के. राजन

केरल में भारी बारिश को देखते हुए राज्य के राजस्व मंत्री के राजन ने सोमवार को पतनमथिट्टा के कलक्ट्रेट में समीक्षा बैठक और हालात का आंकलन किया, जिसके बाद उन्होंने बताया कि पम्पा नदी का जलस्तर करीब 15 सेंटीमीटर बढ़ने के कारण सरकार ने काकी डैम को खोल कर करीब 200 क्यूमेक्स पानी छोड़ने का फैसला किया है. उन्होंने कहा कि यह फैसला डैम के जलस्तर के खतरे के निशान को पार करने और मौसम विभाग द्वारा 20 अक्तूबर को भारी बारिश के पूर्वानुमान को देखते हुए लिया गया है. उन्होंने कहा कि अभी डैम का पानी नहीं छोड़ा गया तो हालात और बिगड़ सकते हैं. उन्होंने कहा कि हालात को देखते हुए अभी सबरीमाला में पूजा की अनुमति नहीं दी जा सकती.

राहत और बचाव कार्य जारी

राज्य में बारिश का दौर जारी है, जिससे आमजन को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. मौजूदा हालात को देखते हुए राज्य में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ टीमों की तैनाती कर दी गई है. राहत और बचाव कार्य जारी है. इस मामले पर मंत्री के. राजन का कहना है कि जिन 10 बांधों के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है उनमें काकी, शोलयार, मातुपट्टी, मूझियार, कुंडाला और पीची सहित ज्यादातर पतनमथिट्टा, इडुकी और त्रिशूर जिले में स्थित हैं. इसके अलावा आठ अन्य डैम के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है.

इन राज्यों में जारी अलर्ट

पिछले कई दिनों से देश के अलग-अलग राज्यों में भारी बारिश हो रही है. नदियां अपने उफान पर है, ऐसे में बारिश से सबसे ज़्यादा दिक्कत का सामना आमजन को करना पड़ रहा है. भारी बारिश से कई इलाके जलमग्न है, बारिश के चलते लोग रास्तों पर फसे हुए हैं, लोग अपने काम पर नहीं जा पा रहे हैं. बारिश के चलते आमजन की दिनचर्या प्रभावित हुई है. भारी बारिश के चलते उत्तर भारत और मध्य भारत में रेड अलर्ट भी जारी किया गया है.

 

यह भी पढ़ें :

Singhu border murder case : लखबीर की हत्या के बाद निहंगों ने 28 अक्टूबर को बुलाई धार्मिक एकता, ये है प्लान

NIA to Probe Civilian Killings in the Valley : घाटी में नागरिकों की हत्या के मामलों की जांच करेगी एनआईए