Vikas Dubey Case: कानपुर के बिकरू गांव से निकले कुख्यात अपराधी और एनकाउंटर में मारे गए विकास दुबे से जुड़ी बड़ी खबर सामने आई है. दरअसल बिकरू कांड के अपराधी विकास दुबे का संबंध RSPL ग्रुप के मालिक मुरली बाबू से बताया जा रहा है. बता दें कि इस के जुड़ कोई न कोई राज हर रोज सामने आ रहा है. हालांकि पुलिस जांच में पहले भी सामने आ चुका है कि विकास दुबे के कई लोगों से संबंध थे.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 2 जुलाई की रात को 8 पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतार देने वाले कुख्यात अपराधी विकास दुबे ने आरएसपीएल ग्रुप के मालिक मुरलीधर ज्ञानचंदानी की आर्थिक मदद के दम और गैर कानूनी पैसों से अपना काला साम्राज्य खड़ा किया था. कानपुर में मुरलीधर ज्ञानचंदानी की एक फैक्ट्री भी है, जिसमें चौबेपुर गांव के आधे से ज्यादा युवक काम करते थे.

हमारे संवादाता की रिपोर्ट्स के मुताबिक मुरलीधर ज्ञानचंदानी ने जब कानपुर में कारोबार की शुरुआत की थी तो विकास दूबे उस समय मोस्ट वाटेंड अपारिधियों की लिस्ट में शामिल था. बताया जाता है कि विकास दूबे एक फोन कर अपने गांव के युवकों को मुरली बाबू की फैक्ट्री में नौकरी दिलवा देता था. मुरलीधर ज्ञानचंदानी की तरफ से विकास दुबे को आर्थिक मदद भी दी जाती थी.

जानें कौन हैं मुरलीधर ज्ञानचंदानी

फोर्ब्स इंडिया मैग्जिन में अपनी जगह बनाने वाले मुरली बाबू का पूरा नाम मुरलीधर ज्ञानचंदानी है, मुरलीधर ने 5 बार फोर्ब्स इंडिया में जगह बनाई है, बता दें 1987 में घड़ी साबुन की नींव रखने वाले मुरली बाबू यूपी के सबसे रईस कारोबारी में से एक हैं. कानपुर के अलावा इनकी देश व विदेश में दर्जनों कंपनी हैं, जहां पर कई प्रोडेक्ट बनाए जाते हैं.

Rahul Gandhi Target PM Modi: राहुल गांधी का PM मोदी पर निशाना- NEET-JEE पर चर्चा चाहते थे छात्र, खिलौने पर मन की बात कर गए

Sushant Singh Rajput Case: रणदीप सुरजेवाला बोले- संदीप सिंह और BJP में कैसा रिश्ता, क्या जांच करेगी CBI

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर